• A
  • A
  • A
Jail से live: 'योगी जी जेलर महीने के 50 हजार मांगता है वर्ना मार डालेगा'

गाजियाबाद। यूपी की चर्चित डासना जेल में जो कुछ भी इस बार सामने आया है। वो दिल को दहला देने वाला है। साथ ही इस घटना ने उत्तर-प्रदेश सरकार को कटघरे में लाकर खड़ा कर दिया है।

देखें पूरा वीडियो।


डासना जेल से एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसमें 8 साल से जेल में बंद एक कैदी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने किसी तरह से मोबाइल जेल में मंगवाया और अपना वीडियो बनाया। उस वीडियो को वायरल कर दिया। मामला मथुरा के एक कैदी से जुड़ा हुआ है। जो हत्या के आरोप में 8 साल से जेल में बंद है। उसका आरोप है कि जेल में कैंटीन के नाम पर पैसे का खेल होता है।


पढ़ें : डोमाना सेंट्री पोस्ट पर अंधाधुंध फायरिंग, अलर्ट गार्ड की सूझ-बूझ से टला हादसा

50 हजार रुपए हर महीने कहां से लाऊं?
कैदी का कहना है कि उसके अच्छे आचरण को देखते हुए बीते दिनों डासना जेल में उसे कैंटीन संभालने का काम दे दिया गया था। वह रोजाना ₹25 से ₹30000 की कमाई इसी कैंटीन से करके जेल प्रशासन को देता था। आरोप है कि जेल के अंदर उससे कहा गया कि रोजाना ₹50000 चाहिए। जब उसने यह बात नहीं मानी तो उसके साथ मारपीट की गई। लेकिन यह कैदी डरा नहीं। और इसने किसी तरह से जेल में मोबाइल फोन मंगवाया और अपना वीडियो बना लिया। इस वीडियो में उसने अपनी आप बीती बताई है। और इसके भाई ने एक लिखित शिकायत के साथ इस वीडियो को कोर्ट में सबमिट किया है। इसके अलावा यह वीडियो और शिकायत की कॉपी जेल मंत्रालय के अलावा तमाम उच्च अधिकारियों को भेजी गई है।


आप बीती बयां करता कैदी

पढ़ें :किसी ने दिए 9 नंबर, तो किसी ने 1 पर कोसा; केजरीवाल सरकार के 3 साल पर Special Report

पिटाई के पीठ पर हैं निशान

इस वीडियो में यह कैदी अपने जख्म भी दिखा रहा है। आरोप है कि उसे जेल में इतना पीटा गया उसकी बेरहमी के निशान उसके शरीर पर हैं। पहले भी जेल पर कई तरह के आरोप लग चुके हैं। गाजियाबाद की डासना जेल में कई बार कैदियों की संदिग्ध मौत भी हो जाती है। जांच कई बार हुई है। लेकिन नतीजा सामने नहीं आया है।

पढ़ें : 'Army युद्ध के लिए 6 महीने में होगी तैयार, संघ 3 दिन में Ready' भागवत के बयान पर 'महाभारत'

दस गुना ज्यादा कीमत में बेंचा जाता सामान

इसके अलावा यह भी आरोप लगता है कि जेल में बाहर से खाने पीने का सामान जाता है। जो सामान्य से 10 गुना ज्यादा रेट पर बेचा जाता है। पहले लगे आरोपों की बात करें तो जेल की कैंटीन में एक सिगरेट की कीमत ₹100 रुपये है। एक समोसे की कीमत ₹200 है। एक पेटीज की कीमत ₹120 है। एक कोल्ड ड्रिंक जेल में ₹500 की मिलती है। अगर शराब पीनी है तो वह भी मुहैया होगी। यह बातें भी हम नहीं कह रहे। यह सब भी आरोप है।

पढ़ें : बदबू आने पर पड़ोसियों को दिखाता था मरा हुआ चूहा, तलाशी में सूटकेस से निकली बच्चे की लाश!

कौन बचता है कौन नपता है

अब देखना यह है कि इस पर क्या कुछ कार्रवाई होती है। फिलहाल सबकी निगाहें गाजियाबाद कोर्ट पर हैं। अगली सुनवाई पर इस मामले में कोर्ट अपना रुख साफ कर सकती है। पहले जेल में कई बार मोबाइल फोन भी मिल चुके हैं। और इस वीडियो के मिलने के बाद भी यह बात साफ हो गई है कि मोबाइल फोन जेल के भीतर मंगवाया जा सकता है।



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES