• A
  • A
  • A
बलात्कार, शादी, लोकलाज...के डर से मां-बाप ने सड़क पर फेंकी थी एक दिन की मासूम

पानीपत/मुज़फ्फरनगर। बीती 6 जून को जनपद मुज़फ्फरनगर शहर कोतवाली क्षेत्र के गुल्लर वाली गली में लावारिस हालत में घर के बाहर मिली एक दिन की नवजात बच्ची के मामले में मुजफ्फरनगर पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है।

क्लिक कर जाने आरोपी मां ने क्या कहा।


पुलिस ने लावारिस मिली बच्ची के असली माता-पिता को खोज निकाला है। पुलिस ने आरोपियों की सेंट्रो कार के नंबर को ट्रेस कर उसी आधार पर मासूम बच्ची के माता-पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पुलिस गिरफ्त में आई बच्ची की मां ने बताया कि उन्होंने लोक-लाज के भय से अपनी एक दिन की बेटी को एक घर के सामने फेंक दिया था, जिसका उन्हें पछतावा है और दुख भी है।


आरोपी मां ने कहा कि उनकी शादी मात्र 6 महीने पहले हुई थी, जबकि उसका और उसके पति का शादी से एक साल पहले से प्रेम प्रसंग चल रहा था। उसी दौरान ये बच्ची उसके गर्भ में आ गयी। मगर शादी के कुछ महीने बाद ही बच्ची पैदा होने पर समाज के तानों से वो डर गए और बच्ची को फेंक दिया था।

पढ़ें-कनपटी पर बंदूक रखकर करता था हफ्ता वसूली, अब पुलिस ने किया ये हाल

ऐसे मिली थी बच्ची
दरअसल 6 जून को डॉक्टर अथर के मकान के सामने कपड़े में लिपटी एक बच्ची पड़ी हुई मिली थी। मोहल्ले वासियों को इसकी जानकारी उस वक्त मिली थी जब एक कूड़े से भरा रिक्शा इस मासूम के ऊपर से गुजरा। मासूम के रोने की आवाज़ के बाद मोहल्ले के लोग इकट्ठा हो गए मामले की जानकारी पुलिस को दी गई।

बच्ची का चल रहा है इलाज
पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मासूम बच्ची को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया जहां उसका आज भी इलाज जारी है। बच्ची को छोड़ने से लेकर बच्ची के साथ जो भी अत्याचार हुआ वो सब पास के मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया था।

सीसीटीवी ने खोला राज़
सीसीटीवी से पता चला कि बच्ची को तीन बार मौत से लड़ना पड़ा था। बच्ची को फेंक कर जाने वाले मां बाप ने जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया था वो एक सेंट्रो कार थी जो सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। इसी आधार पर पुलिस ने आरोपी पिता सरवर व बच्चे की मां को गिरफ्तार किया।

बलात्कार का केस भी जुड़ा
पुलिस के अनुसार दोनों आरोपी कुछ समय पहले पानीपत में रह रहे थे और पिछले एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसी बीच ये बच्ची उसके गर्भ में आ गई। कौशर ने सरवर पर शादी करने का दबाव बनाया तो उसने शादी करने से मना कर दिया। जिसके बाद कौशर ने सरवर के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा पानीपत थाने में दर्ज करा दिया था।

सहमति के बाद हुई थी शादी

बाद में दोनों की शादी को लेकर सहमति बन गई और कुछ दिन बाद शादी हो गई मगर शादी के मात्र तीन महीने के अंदर इस बच्ची ने जन्म ले लिया और उसके बाद आरोपी माता पिता ने लोकलाज के भय से बच्ची को कपड़े में लपेटकर नगर कोतवाली क्षेत्र के खालापार में गुल्लर वाली गली में डॉक्टर के घर के सामने फेंक दिया था। ​




CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES