• A
  • A
  • A
कभी न करें इन पांच जगहों पर सेक्स, पड़ सकते हैं बहुत बीमार

21वीं सदी में एक ओर तो लोग सेक्स को लेकर जागरूक हो रहे हैं तो दूसरी तरफ अलग-अलग प्रयोग करने से बाज़ नहीं आते। ज्यादातर हमारे युवा वर्ग इसे फैंटसी समक्षते हैं औऱ इसलिए सेक्स को लेकर कई तरह के प्रयोग करते रहते हैं। पर आप ये नहीं जानते की इन प्रयोगों से आप ई.कोलाई जैसी बीमारी को न्यौता दे रहे हैं। फेकल बेक्टीरिया, नोरोवॉयरस, और एमआरएसए कुछ ऐसे गंदगी हैं जो भीड़भाड़ वाले इलाके में जमे रहते हैं और आपके शरीर के संपर्क में आते ही आपके लिए खतरनाक साबित होते हैं। इसी संदर्भ में एरीजोना विश्वविद्यालय के अणुजीव वैज्ञानिक चार्ल्स गर्बा (पीएच.डी) ने ऐसे 5 जगहों के बारे में बताया है जिनसे आज आपको हम अवगत कराएंगे।


हवाई जहाज के बाथरूम

चार्ल्स गर्बा के मुताबिक छोटे से हवाई जहाज के बाथरूम बीमारी फैलाने के बहुत बड़े दोषी हैं। करीब 100 से भी ज्यादा लोग बिना सफाई हुए एक बार में बाथरूम इस्तेमाल करते हैं और कई लोग तो अपने हाथ भी नहीं धोते हैं। इसलिए हवाई जहाज के बाथरूम में ई.कोलाई का पाया जाना कोई आश्चर्यजनक बात नहीं है।


जिम का लॉकर रूम
एमआरएसए, स्ट्रेप, नोरोवॉयरस, रिंगवार्म ऐसे बेक्टीरिया हैं जो जिम के लॉकर रूम के गर्म और नम वातावरण में आसानी से पनपते हैं। इसलिए कभी भी जिम के लॉकर रूम में नंगे पांव नहीं घूमना चाहिए वर्ना आप किसी संक्रामक बीमारी से ग्रसित हो सकते हैं।

सिनेमा हॉल
सिनेमा हॉल के गंदे फ्लोर को अगर आप वार्निंग के तौर पर नहीं ले रहे हैं तो गर्बा आपको बताना चाहते हैं कि सिनेमा हॉल की सीट औऱ हैंडरेल कभी-कभार ही साफ होते हैं इसलिए इनपर बेक्टीरिया का पाया जाना बहुत ही कॉमन बात है। इनके नमूने को टेस्ट करने पर स्टैफ डिटेक्ट किया गया है। जब भी लाइट डिम हो एक-दूसरे के करीब जाने से बचें।

प्लेग्राउंड और पार्क
क्या आपने कभी प्लेग्राउंड या पार्क में लगे झूलों को साफ होते देखा है। नहीं, शायद ही कभी हममें से किसी ने ये होते हुए देखा हो। गर्बा के मुताबिक कोल्ड और फ्लू के किटाणु के साथ ही मनुष्य और जानवरों के मल भी पूरे पार्क के आसपास पाए जाते हैं। इसलिए अगली बार स्विंग से नीचे आने से पहले आप ये ज़रूर याद कर लें कि आपसे पहले वहां करीब 20 से भी ज्यादा बच्चों ने अपनी नाक पोछी होगी।

समुद्री बीच
बीच पर कचड़ा, नाला, चिड़ियों के मल औऱ फन संबंधी कई चीजें बिखरे हुए मिलेंगे जो कि बीच के बालू को गंदा बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते। अध्ययन से पता चला है कि ये सतह पानी से भी खतरनाक होता है जिससे डायरिया, इंफेक्शन या रैसेस हो सकता है। इनके साथ ही आपको ये नहीं भूलना चाहिए कि बीच पर आपको टिक का भी खतरा हो सकता है जो आपके निचले हिस्से से आपके शरीर पर पहुंच सकता है औऱ लाइम डिजीज से प्रभावित हो सकते हैं।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES