• A
  • A
  • A
आंध्र मूल के युवक को अमेरिका में मृत्युदंड

अमरावती / वाशिंगटन। अमेरिका में एक बच्ची और उसकी दादी की हत्या करने के दोषी भारतीय मूल के एक व्यक्ति के मृत्युदंड की तारीख अगले महीने निर्धारित की गयी है। यांदामुरी मृत्युदंड का सामना करने वाला पहला भारतीय-अमेरिकी है।

कॉनसेप्ट फोटो।


दरअसल, रघुनंदन यांदामुरी (32) को 2014 में 61 वर्षीय भारतीय महिला और उसकी 10 महीने की पोती का अपहरण कर हत्या करने के जुर्म में मृत्युदंड दिया गया था। स्थानीय सुधार गृह के अधिकारियों ने यांदामुरी के मृत्युदंड की तारीख 23 फरवरी तय की है।


मृत्युदंड का सामना करने वाला पहला भारतीय अमेरिकी
हालांकि, पेनसिलवानिया के गवर्नर टॉम वुल्फ की ओर से 2015 में मृत्युदंड पर रोक के कारण सजा पर पाबंदी लग सकती है। यांदामुरी मृत्युदंड का सामना करने वाला पहला भारतीय-अमेरिकी है।

साजिश के तहत हत्याएं की गयी

संघीय अधिकारियों ने आरोप लगाया कि फिरौती के लिए रची गयी साजिश के तहत हत्याएं की गयी। उसकी दोषसिद्धि के बाद उसे बताया गया कि उसपर मृत्युदंड लगाया गया है। बाद में उसने अपनी सजा के खिलाफ अपील की लेकिन अप्रैल में अपील ठुकरा दी गयी।

23 फरवरी को मिल सकती है मौत की सजा

स्थानीय टाइम्स हेराल्ड ने कल बताया कि जानलेवा सुई के जरिए उसकी मौत की तारीख 23 फरवरी निर्धारित की गयी है लेकिन गवर्नर टॉम वुल्फ की ओर से मृत्युदंड पर प्रतिबंध के कारण सजा पर रोक लग सकती है ।

पढ़ें:
जूलियन असांजे को राजनयिक का दर्जा देने से ब्रिटेन का इनकार

आंध्रप्रदेश का है यांदामुरी

आंध्रप्रदेश के निवासी यांदामुरी एच-1 बी वीजा पर अमेरिका आया था । उसने इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में एडवांस डिग्री ले रखी है।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES