• A
  • A
  • A
दिवंगत राष्ट्रपति यासिर अराफात को PM मोदी ने दी श्रद्धांजलि

रामल्ला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज फलस्तीन के दिवंगत नेता यासिर अराफात के मकबरे पर पुष्पचक्र चढ़ाया। फलस्तीन की ऐतिहासिक यात्रा के दौरान यह मोदी का पहला कार्यक्रम था।

डिजाइन फोटो


बता दें कि फलस्तीन को भारत द्वारा एक देश के तौर पर मान्यता दिए जाने के बाद यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली फलस्तीन यात्रा है। इससे पहले मोदी जॉर्डन की सेना के एक हेलीकॉप्टर में सवार होकर अम्मान से सीधा रामल्ला पहुंचे।
राष्ट्रपति भवन के बगल में है मकबरारामल्ला में पीएम मोदी का स्वागत फलस्तीन के प्रधानमंत्री रामी हमदल्ला ने किया। हमदल्ला के साथ प्रधानमंत्री मोदी अराफात के मकबरे पर गए। 10 नवंबर 2007 को इस मकबरे का अनावरण हुआ था और यह फलस्तीन के राष्ट्रपति भवन परिसर ‘मुकाटा’ के बगल में है।संग्रहालय भी गए पीएम मोदीअराफात को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद प्रधानमंत्री ने हमदल्ला के साथ अराफात संग्रहालय की सैर भी की। यह संग्रहालय अराफात के मकबरे के पास ही बनाया गया है।
रामल्ला से यरूशलम तक जाती है रौशनीबताया जाता है कि मकबरे की हर दीवार की लंबाई 11 मीटर है और उनसे एक क्यूब बनता है। यह 11वें महीने की 11 तारीख को हुए अराफात के निधन का सूचक है। अराफात के मकबरे के बगल में एक मीनार है जो 30 मीटर ऊंची है। मीनार के शीर्ष पर एक लेजर प्रणाली है जो यरूशलम की दिशा में रोशनी की बौछार करता है।
1994 में मिला शांति का नोबेल पुरस्कारबता दें कि साल 1929 में काहिरा में जन्मे अराफात का निधन 11 नवंबर 2004 को हुआ था। वह आठ साल तक फलस्तीन के राष्ट्रपति रहे थे। वर्ष 1994 में अराफात को इस्राइली नेता यित्झक राबिन और शिमोन पेरेज के साथ शांति का नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
पढ़ें: फिलिस्तीन में PM मोदी को मिला सर्वोच्च सम्मान- 'ग्रैंड कॉलर'
अराफात ने साल 1990 में फलस्तीन मुक्ति संगठन (पीएलओ) के प्रमुख ने इस्राइल से वार्ता की थी। वर्ष 1993 में उन्होंने ओस्लो समझौता किया जिससे फलस्तीन को पश्चिमी तट और गाजा पट्टी में स्वशासन प्राप्त हो सका।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES