• A
  • A
  • A
लड़कियों की शिक्षा के लिए 202.56 अरब रुपये, G7 में हुआ संकल्प

ला मालबयी। विश्व के सात प्रमुख देशों के समूह-G7 के सम्मेलन में शिक्षा को लेकर बड़ा फैसला लिया गया। G7 सम्मेलन में घोषणा की गई कि शरणार्थी सहित कमजोर महिलाओं और लड़कियों को शिक्षा देने के लिए करीब 202.56 अरब रुपये खर्च किए जाएंगे।

फोटो सौजन्य-ट्विटर


कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इसे संकट और संघर्ष की परिस्थितियों में महिलाओं और लड़कियों कि शिक्षा पर खर्च किया जाने वाला अकेला सबसे बड़ा निवेश बताया है। कनाडा इसके लिए लगभग दो अरब ढाई करोड़ रुपये देगा। इस शिखर सम्मेलन से इतर नारीवादी समूहों ने ट्रुडो से मिलकर जितनी राशि की मांग की थी, यह वह उस राशि से ज्यादा है।


मलाला ने की फैसले की प्रशंसा
सामाजिक कार्यकर्ताओं और शांति के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित मलाला यूसुफजई ने इसके लिए G7 की प्रशंसा की। मलाला ने कहा कि इससे लड़कियों को उम्मीद की किरण मिलेगी कि वह अपने लिए एक बेहतरीन भविष्य का निर्माण कर सकें।

पढ़ें- शी और पुतिन ने SCO को विस्तारित किए जाने की सराहना की

प्रदूषण कम करने की प्रतिज्ञा
यह धन विकासशील देशों की युवा लड़कियों को बाल विवाह और बाल मजदूरी के बदले भविष्य बनाने का अवसर मिलेगा। G7 के समापन वक्तव्य में प्लास्टिक कचरे में कमी लाकर समुद्र के प्रदूषण को कम करने की भी प्रतिज्ञा ली गई है।



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES