• A
  • A
  • A
जजों से प्रेरित होकर अब मंत्री भी उठाएं आवाज : यशवंत

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने आज अपनी पार्टी के सदस्यों और मंत्रियों को न्यायाधीशों की तरह ही 'अपने डर से छुटकारा पाने' और 'लोकतंत्र के लिए आगे आकर बोलने' की नसीहत दे डाली।

प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले SC के चारों जज और यशवंत सिन्हा


गौरतलब है कि शीर्ष अदालत के न्यायाधीशों ने कल प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ सार्वजनिक बयान दिये थे। ऐसे में पार्टी लाइन से अलग देखे जा रहे यशवंत सिन्हा का ताजा बयान सरकार पर हमला माना जा रहा है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने चारों न्यायाधीशों के टिप्पणियों के संदर्भ में दावा किया कि वर्तमान माहौल 1975-77 के आपातकाल जैसा है।


चारों जजों का किया समर्थन:
जज लोया को न्याय मिलने का भरोसा जताया।
ट्वीट में लिखा जजों ने व्यक्त की लाखों भारतीयों की भावनाएं:

शीर्ष अदालत ही सुलझाएगी विवाद
सिन्हा ने कहा कि चार वरिष्ठ न्यायाधीशों द्वारा देश के प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ शुक्रवार को लगभग विद्रोह करने के बाद संकट सुलझाना शीर्ष अदालत का काम है।

सरकार में प्रधानमंत्री भी बराबर

उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय में प्रधान न्यायाधीश की तरह प्रधानमंत्री भी सरकार में वैसे तो बराबर हैं, लेकिन अनौपचारिक रूप से पहले आते हैं और उनके कैबिनेट सहयोगियों को आगे आकर बोलना चाहिए।

संसद पर भी जताई चिंता

वरिष्ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्हा ने संसद के छोटे और हंगामेदार सत्रों पर भी चिंता जताई। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अगर संसद से समझौता किया जाता है, उच्चतम न्यायालय व्यवस्थित नहीं है तो लोकतंत्र खतरे में पड़ जाएगा।

गंभीरता से लेनी चाहिए चारों जजों की बातें

यशवंत सिन्हा ने कहा कि अगर उच्चतम न्यायालय के चार वरिष्ठ न्यायाधीश कहते हैं कि लोकतंत्र खतरे है तो हमें उनके शब्दों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि हर नागरिक जो लोकतंत्र में विश्वास रखता है, उसे खुलकर बोलना ही चाहिए।

पढ़ें: ONGC हेलीकॉप्टर दुर्घटना: चार शव बरामद, राष्ट्रपति ने जताया दु:ख

डर से छुटकारा पाएं राजनैतिक लोग
प्रेस वार्ता में बोलते हुए सिन्हा ने राजनीतिक पार्टियों, भाजपा नेताओं और कैबिनेट के वरिष्ठ मंत्रियों से भी आगे आकर बोलने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि वे राजनैतिक लोगों से डर से छुटकारा पाकर बोलने की अपील करते हैं।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES