• A
  • A
  • A
सुप्रीम कोर्ट के चारों जजों को हरियाणा कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने दे डाली नसीहत

अंबाला। सुप्रीम कोर्ट के चारों जजों का मीडिया के सामने आकर बयान देना पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है। ऐसे में हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने भी ट्वीट कर सुप्रीम कोर्ट के चारों जजों को नसीहत दे डाली।

हरियाणा के खेल एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (फाइल फोटो)


देश या प्रदेश में कोई भी किसी भी तरह का कोई घटना क्रम हो, हरियाणा के नेता उसे मुद्दा बनाने और उस मुद्दे को भूनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते। हरियाणा के नेताओं ने अब राजनैतिक बहस के लिए एक और नया मुद्दा चुन लिया है। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ मीडिया के सामने आ चुके 4 जजों के मसले पर भी हरियाणवी नेताओं ने प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी हैं। हर बात पर अपनी बात रखने वाले कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने भी इस मुद्दे पर अपनी राय दे डाली है।


हरियाणा के खेल एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट किया कि, मीडिया के जरिये पब्लिक के सामने आने से पहले इन चारों जजों को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए था।

ये है स्वास्थ्य मंत्री का ट्वीट
स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट पर अंग्रेजी में पोस्ट किया कि, 'इट वाज बैटर इफ 4 सुप्रीम कोर्ट जज है रिजाइन्ड बिफोर गोइंग पब्लिक इल प्रेस।'


ये है मामला
आपको बता दें कि, शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के चार जज, जस्टिस जे. चेलामेश्‍वर ने जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ ने मीडिया से कहा, किसी भी देश के कानून के इतिहास में यह बहुत बड़ा दिन, अभूतपूर्व घटना है, उन्‍होंने कहा कि हमने यह प्रेस कॉन्‍फ्रेंस इसलिए की, ताकि हमें कोई यह न कह सके कि हमने आत्मा को बेच दिया है। उन्होंने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुप्रीम कोर्ट प्रशासन को लेकर सवालिया निशान खड़े किए है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टीस पर भी आरोप लगाया।



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES