• A
  • A
  • A
पीएम के प्रधान सचिव का खंडन, दीपक मिश्रा से नहीं हुई मुलाकात

नई दिल्ली। टेलीविजन पर तस्वीरों में आज दिखाया गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) दीपक मिश्रा के घर पहुंचे। लेकिन उन दोनों के बीच मुलाकात नहीं हुई। नृपेन्द्र मिश्रा ने मीडिया में चल रही खबरों का खंडन किया है, जिसमें मुलाकात की बात कही गई थी।

पीएम के प्रधान सचिव नृपेन्द्र मिश्र।


गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों ने शुक्रवार को सीजेआई के खिलाफ एक तरह से विद्रोह करते हुए मामलों के ‘‘एकतरफा तरीके से’’ आवंटन पर सवाल उठाए थे। तस्वीरों में दिखाया गया कि नृपेंद्र मिश्रा अपनी कार से सीजेआई के आधिकारिक आवास पर पहुंचे। हालांकि गेट नहीं खोला गया और कुछ समय के इंतजार के बाद प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव को वाहन से वापस जाते हुए देखा गया।


एक अभूतपूर्व कदम में, चार न्यायाधीशों ने न्यायमूर्ति बी एच लोया की रहस्यमयी मौत से जुड़े मामले सहित महत्वपूर्ण मामलों के आवंटन में कथित एकतरफा तरीका अपनाने पर सीजेआई के खिलाफ मोर्चा खोला। लोया सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे।

टीवी पर तस्वीरें दिखाए जाने के बाद कांग्रेस ने सरकार की आलोचना की और कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को इस सवाल का जवाब देना चाहिए कि सीजेआई के पास ‘‘विशेष संदेशवाहक’’ को क्यों भेजा गया।

ये भी पढ़ें

जजों से प्रेरित होकर अब मंत्री भी उठाएं आवाज : यशवंत

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव के रूप में नृपेंद्र मिश्रा 5, कृष्णा मेनन मार्ग पर स्थित सीजेआई के आवास पहुंचे। प्रधानमंत्री को इस बात का जवाब देना चाहिए कि प्रधान न्यायाधीश के पास इस विशेष संदेशवाहक को क्यों भेजा गया?’’

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES