• A
  • A
  • A
सिद्धरमैया की दो टूक, तमिलनाडु को नहीं देंगे पानी

नयी दिल्ली/चेन्नई। तमिलनाडु सरकार ने अपनी फसलों को बचाने के लिए कर्नाटक से आज मांग की कि वह कावेरी से कम से कम 15 टीएमसीएफटी पानी छोड़े लेकिन पड़ोसी राज्य ने कहा कि उसके पास पर्याप्त पानी नहीं है।

अन्य नेताओं के साथ कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया (फाइल फोटो)।


कर्नाटक के अपने समकक्ष सिद्धारमैया को एक पत्र में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने मौजूदा जल संग्रह से सात टीएमसीएफटी पानी तुरंत छोड़ने और बाकी पानी एक पखवाड़े में छोड़ने की मांग की। कावेरी जल विवाद न्यायाधिकरण के 2007 के आदेश के मुताबिक तमिलनाडु को कावेरी नदी में अपनी हिस्सेदारी से हर साल 192 टीएमसीएफटी (थाउजेंड मिलियन क्यूबिक फीट ) दिया जाना है। बिलिगुंडुलु में नौ जनवरी तक उसे "R179.871 टीएमसीएफटीकीतुलनामें "R111.647 टीएमसीएफटी पानी ही मिला।


तमिलनाडु सरकार की मांग के बारे में पूछे जाने पर सिद्धारमैया ने कहा, ‘‘हमारे पास पानी नहीं है। हम उन्हें कैसे आपूर्ति कर सकते हैं ? तमिलनाडु को पानी छोड़ना मुमकिन नहीं है।’’ कावेरी जल विवाद पर सुनवाई अगले महीने होनी है।

ये भी पढ़ें
आपसी रिश्ते बनाकर अपलोड किया वीडियो, महिला परेशान

सिद्धारमैया ने कहा, ‘‘हमें अनुकूल फैसला आने की उम्मीद है।’’



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES