• A
  • A
  • A
कांग्रेस बोली, नकवी को भाजपा में रहना है, तो ऐसा बोलना ही होगा

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की होने वाली इफ्तार पार्टी के लिए विपक्ष के सभी प्रमुख नेताओं को न्यौता दिया गया है। कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि विपक्ष के तकरीबन सभी प्रमुख नेताओं को बुलाया गया है, हालांकि रामविलास पासवान जैसे राजग के उन नेताओं को न्यौता नहीं दिया गया है, जो पहले संप्रग सरकार का हिस्सा रह चुके हैं।

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी का बयान।


पहले इस तरह की अटकलें थीं कि कांग्रेस उन नेताओं को भी न्यौता दे सकती है जो पहले उसके साथी रह चुके हैं। पार्टी के एक नेता ने बताया कि सपा, बसपा, राजद, वाम दल, जदएस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया है।


कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी से जब ये पूछा गया कि वो मुख्तार अब्बास नकवी पर क्या कहना चाहेंगे, क्योंकि उन्होंने भी आज ही इफ्तार रखी है और उन्होंने तलाकशुदा पीड़िताओं को आमंत्रण दिया है। इस पर तिवारी ने कहा कि ये मुख्तार जी की आवाज नहीं है, और ना ही उनके मन का भाव है। ये उनकी मजबूरी है।

तिवारी ने कहा कि नकवी को अगर भाजपा में रहना है, तो ऐसा उन्हें बोलना ही पड़ेगा। लेकिन उन्हें पता है कि कोई भी पवित्र काम राजनीतिक मनसा के साथ नहीं करना चाहिये। अगर आपने इफ्तार को राजनीतिक बनाया तो ऊपर वाला भी कुबूल नहीं करेगा।'

पढ़ें: नकवी की इफ्तार पार्टी में तलाकशुदा, कांग्रेस ने महागठबंधन को किया आमंत्रित

उन्होंने कहा, 'मैं उनकी मजबूरी समझता हूं। लेकिन जहां तक कांग्रेस का सवाल है, तो कांग्रेस हमेशा से ही इफ्तार करती रही है। इसमें एक बात खास है कि इसमें सब धर्म के लोग बुलाये जाते हैं। यही नहीं, होली कांग्रेस होली और दीवाली भी मिलजुल कर मनाती है, और वह राजनीतिक नहीं बल्कि परंपरागत होती है।'
राजद नेता तेजस्वी यादव कांग्रेस अध्यक्ष की इफ्तार में शामिल नहीं हो सकेंगे, क्योंकि उन्होंने पटना में राजद की तरफ से इफ्तार का आयोजन किया है।

राजद के प्रवक्ता मनोज झा ने बताया, ‘राजद की इफ्तार का कार्यक्रम पहले से तय था। दोनों आयोजन एक दिन हो रहे हैं, इसलिए तेजस्वी दिल्ली नहीं पहुंच सकेंगे। पार्टी की तरफ से मैं कांग्रेस की इफ्तार में शिरकत करूंगा।’

पढ़ें: मोदी सरकार की ‘विफल पाक नीति’ का नतीजा है सीमा पर ना'पाक' गोलीबारी’

जद(एस) नेता कुंवर दानिश अली ने कहा कि वह इस इफ्तार में अपनी पार्टी का प्रतिनिधित्व करेंगे।

कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि राजनीतिक दलों के अलावा कुछ प्रमुख मुस्लिम संगठनों के नेताओं को भी इस इफ्तार के लिए आमंत्रित किया गया है।

कांग्रेस दो साल के अंतराल के बाद इफ्तार का आयोजन करने जा रही है। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष रहने के दौरान सोनिया गांधी ने 2015 में इफ्तार का आयोजन किया था।




CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES