• A
  • A
  • A
TN गुटखा घोटाला: ED के उपनिदेशक से CBI ने पूछताछ की

नई दिल्ली: तमिलनाडु में हुए गुटखा घोटाले की जांच कर रहे केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (CBI) ने गुरुवार प्रवर्तन निदेशालय (ED) के उप निदेशक एस के श्योराण से पूछताछ की. श्योराण से CBI के चेन्नई कार्यालय में पूछताछ की गई.

कॉन्सेप्ट इमेज।


दरअसल, गुरुवार को CBI ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) के उप महानिदेशक एस के श्योराण से पूछताछ की. घोटाले का पर्दाफाश होने के समय शेवरन केंद्रीय एक्साइज इंटेलिजेंस (DGCEI) के महानिदेशालय में सहायक निदेशक थे.


हालांकि, CBI अधिकारियों ने यह बताने से इंकार कर दिया कि प्रवर्तन निदेशालय में उप निदेशक के पद पर तैनात एस के श्योराण से गवाह के तौर पर पूछताछ की गयी है या मामले के संदिग्ध के तौर पर.

काम से संबंधित पूछताछ हुई
अधिकारियों ने बताया कि जब कथित तौर पर यह घोटाला हुआ उस समय श्योराण सेंट्रल एक्साइज इंटेलिजेंस निदेशालय में सहायक निदेशक के तौर पर तैनात थे. यह पूछताछ उनके काम से संबंधित है. सीबीआई ने विल्लुपुरम के पुलिस अधीक्षक एस जयकुमार से भी इस घोटाले में शामिल होने के शक में पूछताछ की है.
2015 में राष्ट्रपति से सम्मानित
बताया जाता है कि ED के उप-निदेशक एस के श्योराण को उनकी सेवाओं के लिए वर्ष 2015 में राष्ट्रपति की तरफ से प्रशस्ति पत्र मिल चुका है.इस घोटाले में कई राजनेता, पुलिसकर्मी, सीमाशुल्क और उत्पाद अधिकारी जांच के दायरे में हैं.

इससे पहले CBI ने विगत 5 अक्टूबर, 2018 को DGCEI के तत्कालीन वरिष्ठ अधिकारी के दिल्ली स्थित घर में छानबीन की थी. ये अधिकारी फिलहाल भारत के प्रतिस्पर्धा आयोग के उप महानिदेशक हैं.

पढे़ं-मुंबई पुलिस ने नाना पाटेकर के खिलाफ मामले की जांच शुरू की
वहीं, 4 अक्टूबर को सीबीआई ने GST चेन्नई के एडिशनल कमिशनर सेन्थिल वलावे और DGCEI के तत्कालीन एडिशनल कमिशनर एस श्रीधर के घर में भी तलाशी की थी.

विगत 8 जुलाई, 2017 को, आयकर की टीम ने तमिलनाडु में एक पान मसाला और गुटखा निर्माता कंपनी के गोदाम, कार्यालयों समेत घरों पर छापेमारी की कार्रवाई की थी. इस कंपनी पर 250 करोड़ रुपये के कर चोरी का आरोप था.

बता दें कि तमिलनाडु सरकार ने 2013 में तंबाकू के से बने उत्पादों के निर्माण, स्टोरेज और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था.

कैसे सामने आया घोटाला
जानकारी के मुताबिक इस घोटाले का पर्दाफाश उस समय हुआ जब आठ जुलाई, 2017 को आयकर विभाग के गुटका निर्माता के आवास और कार्यालय में छापे के दौरान एक डायरी जब्त की गयी. डायरी में पुलिस, राजनेताओं और अन्य अधिकारियों को भुगतान किये गए रूपये का जिक्र था.


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES