• A
  • A
  • A
अगर नहीं आती है अंग्रेजी तो घबरायें नहीं, हिंदी भाषा में है भरमार नौकरी

भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा भाषाएं बोलने वाला देश है जिसमें से करीब पांच करोड़ लोग हिंदी जानते और बोलते हैं। हिंदी भाषा की जड़ें संस्कृत से जुड़ी हुई हैं और देवनागरी में लिखी जाती है। हिंदी के बहुत से शब्द संस्कृत से लिए गए हैं। लेकिन हिंदी भाषा में करियर के बारे में लोगों को थोड़ा संदेह रहता है। लेकिन आप अपनी इस मातृभाषा में न सिर्फ उज्जवल करियर बना सकते हैं बल्कि नाम भी कमा सकते हैं।


आर्टिकल 343(1) के अनुसार, भारतीय संविधान में हिंदी को आधिकारिक भाषा घोषित किया गया है। राज्यों की बात करें तो बिहार, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली ने इस भाषा को अपने राज्य की आधिकारिक भाषा माना है। इसके अलावा और भी कई राज्यो में यह सह-आधिकारिक भाषा के रूप में बोली जाती है।


हिंदी भाषा में रोजगार के अवसर
हिंदी भाषा में करियर की बात करें तो इसमें रोजगार के अवसर भरपूर हैं। हिंदी का अच्छा ज्ञान होन पर और संबंधित कोर्स की पढ़ाई करने पर आप हिंदी ऑफिसर, हिंदी ट्रांसलेटर, हिंदी असिस्टेंट आदि बन सकते हैं। यहां तक कि इस भाषा में सरकारी नौकरियां भी खूब निकलती हैं।

प्रिंट और डिजिटल मीडिया में भी हिंदी भाषा का खासा बोलबाला है। यहां आप न्यूज एडिटर बन सकते हैं, रिपोर्टर बन सकते हैं, संवाददाता बन सकते हैं, प्रूफ रीडर बन सकते हैं, एंकर बन सकते हैं यहां तक कि रेडियो जॉकी भी बन सकते हैं।

हिंदी ट्रांसलेटर की डिमांड आजकल बहुत है। ग्लोबलाइजेश का ही यह इफेक्ट है कि भाषाओं के अदान-प्रदान के चलते ट्रासलेटरों के लिए नौकरी के अवसर खूब निकलते हैं। फिर वो चाहे स्क्रिप्टराइटिंग हो या फिर किसी की स्पीच। अगर आप जॉब नहीं करना चाहते तो आप फ्रीलांस के माध्यम से भी कमाई कर सकते हैं।

विदेशो में अब हिदी टीचर की लो जरूरत महसूस करने लगे हैं। अगर आपने हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएशन कर रखा है तो आप विदेश की ऐसी यूनिवर्सिटी में एप्लाई कर सकते हैं जिसमें हिंदी भाषा मान्य हो और एक सबजेक्ट के तौर पर पढ़ाई जा रही हो। विदेशों में ही नहीं हमारे देश में हिंदी टीचर की खूब डिमांड है।

हिंदी हमारी मातृभाषा है, इसमें करियर की संभावनाएं भी अपार हैं लेकिन फिर भी लोगों के सामने शो-ऑफ करने के लिए हम अंग्रेजी झाड़ने लग जाते हैं। हम यह भूल जाते हैं अंग्रेजी दूसरी भाषाओं की ही तरह मात्र एक भाषा है सोशल स्टेटस नहीं। शायद यही वजह है आज भारत में अंग्रजी झाड़ने वाले लोग ज्यादा हैं उन्हीं की वजह से यह भाषा अब लोगों का फैशन स्टेटमेंट बन गई है।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES