• A
  • A
  • A
दिल को संभालना है तो इस बात का जरूर रखें ध्यान

आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में शरीर में हम अपने शरीर का ख्याल नहीं रख पाते हैं जिसके बाद हम कई बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। बढ़ती उम्र के साथ ब्लड प्रेशर की परेशानी होना किसी भी तरह के अच्छे संकेत की ओर इशारा नहीं करती है।


बढ़ता ब्लड प्रेशर या फिर गिरता ब्लड प्रेशर आपकी मौत की ओर इशारा कर रहा है। इससे कई तरीके के हार्ट डिसीज होने का खतरा होता है। जिसमें से एक का नाम है मिट्रल रिगरजिटेशन। जिसमें हार्ट के एक वाल्व से लीकेज का खतरा बढ़ जाता है। ये बातें यूके के ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने कही है।


रिसर्चर्स ने बताया कि ये कोई उम्र के साथ बढ़ने वाली बीमारी नहीं है बल्कि इसे रोका जा सकता है। इससे दुनिया भर के कई लोग पीड़ित हैं। इस अवस्था में हार्ट के लेफ्ट साइड के दो चेंबर्स के बीच का वाल्व सहीं तरह से क्लोज नहीं हो पाता। जब हार्ट मसल्स कांट्रैक्ट होते हैं तो इस वाल्व में से ब्लड लीक होने लग जाता है। जिससे की थकान, पैरों में सूजन और तो और सांसे भी धीमी होने लग जाती हैं।

रिसर्चर्स ने अपने द्वारा किये गये अध्ययन में बताया कि सिस्टोलिक ब्लड प्रेशर से मिट्रल रिगरजिटेशन काफी हद तक रिलेट करता है जोकि 20mmHg के गिरते ही 26 प्रतिशत तक हार्ड डिसऑर्डर का खतरा बढ़ा देता है। इसके लिये रिसर्चर्स ने 5.5 मीलियन लोगों पर ये प्रैक्टिकल किया फिर निष्कर्ष निकाले।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES