• A
  • A
  • A
मर्दों में होने वाली मेनोपॉज की समस्या को ना करें इग्नोर, ऐसे करें बचाव

अगर हम मेनोपॉज नामक बीमारी का जिक्र करें तो आप इसे महिलाओं की कैटेगरी में रख देंगे। लेकिन यह बीमारी सिर्फ महिलाओं तक ही सीमित नहीं रह गई है, बल्कि इसके शिकार अब पुरुष भी होने लगे हैं। समय के साथ-साथ इस बीमारी के लक्षण अब पुरुषों में भी देखने को मिलने लगे हैं। यहां पुरुषों में मेनोपॉज से मतलब है थकान, तनाव और सेक्स की समस्या से परेशान होना लेकिन महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में ये समस्या धीरे-धीरे बढ़ती है।


पुरुषों में उम्र बढ़ने के साथ-साथ कुछ भावनात्मक और शारीरिक परिवर्तन भी आने लगते हैं। उनके हार्मोन्स में धीरे-धीरे कमी आने लगती है। पुरुषों में होने वाले इस परिवर्तन को एंड्रोपॉज या पुरुषों का मेनोपॉज कहा जाता है, ले‍किन यह प्रक्रिया महिलाओं के मेनोपॉज की तरह नहीं होती। महिलाओं में मेनोपॉज होने पर उनकी प्रजनन क्षमता खत्म होने लगती है, लेकिन पुरुषों में ऐसा नहीं होता।


पुरुषों में मेनोपोज के लक्षण-
  • सेक्स करने की इच्छा में कमी आना (कामेच्छा में कमी)
  • अवसाद
  • बहुत ज्यादा थकान होना
  • रात में अचानक अधिक पसीना आने की वजह से नींद खुल जाना
  • एक पल में आप हसंने लगेगे और दूसरे ही पल आप गुस्‍सा हो जाएंगे। मेनोपॉज के समय क्रोध एक आम संकेत है।
उपरोक्त लक्षण भिन्न पुरुषों में अलग अलग हो सकते हैं और यह अवसाद से लेकर दैनिक जीवन व खुशी में हस्तक्षेप तक, कुछ भी हो सकता है। इसलिए, संबंधित कारण मालूम करना महत्त्वपूर्ण है और इसे दूर करने के लिए आवश्यक इलाज किया जाना चाहिए। कुछ लोगों की हड्डियां भी कमजोर हो जाती हैं। इसे औस्टियोपीनिया कहा जाता है।

कुछ मामलों में जब जीवनशैली या मनोवैज्ञानिक समस्या आदि जिम्मेदार नहीं लगते हैं, तो पुरुष रजोनिवृत्ति के लक्षण हाइपोगोनाडिज्म के कारण हो सकते हैं जब हार्मोन कम बनते हैं या बनते ही नहीं हैं। कभी-कभी हाइपोगोनाडिज्म जन्म से ही मौजूद होता है। इस से यौनारंभ देर से आने और अंडग्रंथि छोटा होने जैसे लक्षण हो सकते हैं। कुछेक मामलों में हाइपोगोनाडिज्म का विकास जीवन में आगे चल कर भी हो सकता है खासकर उन पुरुषों में जो मोटे हैं या जिन्हें टाइप 2 डायबिटीज है। इसे देर से हुआ हाइपोगोनाडिज्म कहा जा सकता है और ऐसे पुरुष में रजोनिवृत्ति के लक्षण सामने आ सकते हैं।

हाइपोगोनाडिज्म देर से शुरू होने का पता आमतौर पर आप के लक्षणों और खून की जांच के नतीजों से पता चलता है। इस का उपयोग टेस्टोस्टोरोन का स्तर जानने के लिए किया जाता है। पुरुष रजोनिवृत्ति के लक्षण का सब से आम किस्म का उपचार जीवनशैली से संबंधित स्वास्थ्यकर विकल्प चुनना है। उदाहरण के लिए, आप का चिकित्सक आप को सलाह दे सकता है।

- पौष्टिक आहार लें
- नियमित व्यायाम करें
- पर्याप्त नींद लें
- तनाव मुक्त रहें


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES