• A
  • A
  • A
अब पौधों में पानी की गणना करेगा वेयरेबल सेंसर

वैज्ञानिकों ने एक छोटे ग्रेफेन सेंसर को विकसित किया है, जिसे पौधों में लपेटा जा सकता है। यह पौधे की जड़ों से उसकी पत्तियों तक पानी पहुंचने में लगे समय की गणना कर सकता है।


अमेरिका की आयोवा स्टेट विश्वविद्यालय के वनस्पति वैज्ञानिकों में से एक पैट्रिक स्नेबल ने बताया, "इस प्रकार के उपकरणों से हम ऐसे पौधों की नस्ल विकसित कर सकते हैं, जो पानी का उपयोग करने में अधिक कुशल हों।" स्नेबल ने कहा, "यह रोमांचक है। हमने ऐसा पहले कभी नहीं किया। लेकिन, एक बार जब हम किसी चीज की गणना करते हैं, तो हम उसे समझने लगते हैं।"


इस उपकरण को 'प्लांट टैटू सेंसर' का नाम दिया गया है। एडवांस मैटेरियल्स टेक्नोलॉजी जर्नल में इस उपकरण के बारे में विस्तार से बताया गया है। इस उपकरण के सेंसर को ग्रेफेन ऑक्साइड से बनाया गया है, जो एक ऐसा तत्व है जो जल के वाष्प बनने के प्रति काफी संवेदनशील होता है। बाजार में उतारने के लिए प्लांट सेंसर का सफलतापूर्वक परीक्षण कर लिया गया है।

वैज्ञानिक दल के सदस्य डोंग ने कहा कि वे और अच्छे परिणाम देने वाले और अपेक्षाकृत सस्ते सेंसर बनाने के लिए प्रयासरत हैं। उन्होंने बताया कि यह पद्धति बहुत सरल है। इन सेंसरों को बनाने के लिए आपको मात्र टेप का उपयोग करना होगा जिसकी कीमत मात्र कुछ सेंट है।

उन्होंने कहा कि पौधों के लिए इलेक्ट्रोनिक सेंसर की अवधारणा बिल्कुल नई है। और प्लांट सेंसर इतने छोटे होते हैं कि पौधों में वाष्पोत्सर्जन को जान जाते हैं और इनसे पौधे की वृद्धि और प्रजनन क्षमता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES