• A
  • A
  • A
स्ट्रीट आर्ट फेस्टीवल: हरियाणा के इस शहर की दीवारें बोल भी रही हैं और बुला भी रही हैं...

झज्जर। निजी विज्ञापनों और बेतरतीब ढंग से लगे पोस्टरों से बदरंग सरकारी इमारतों की दीवारों का नजारा अब बदलाव की दस्तक देने लगा है।

हरियाणा के इस शहर की दीवारें बोल भी रही हैं और बुला भी रही हैं...


जिला मुख्यालय पर सरकारी इमारतों की दीवारों के सौंदर्यकरण के लिए मनाए जा रहे 'स्ट्रीट आर्ट फेस्टिवल' के चलते रंग-बिरंगी तस्वीरों से सजी हर दीवार अब बोलती हुई प्रतीत हो रही है। इस बात को कहना गलत नहीं होगा कि उपायुक्त सोनल गोयल की पहल पर किए गए इस प्रयोग ने सरकारी दीवारों के सौंदर्यकरण की नई इबारत लिख दी है।


पढ़ें:- 'कोस मीनारें' सिर्फ़ 'कोस मीनारें' नहीं हैं! हमारी हिस्ट्री, ज्यॉग्राफी और सोशियोलॉजी भी हैं...
आपको बता दें कि उपायुक्त ने स्वयं हाथ में रंग और ब्रश लेकर 22 जुलाई को आयोजित राहगीरी कार्यक्रम से इस पहल का शुभारंभ किया था और आज शहर की सभी प्रमुख इमारतों की दीवारों की खूबसूरती देखते ही बन पड़ रही है।
गौरतलब है कि झज्जर से पहले स्ट्रीट आर्ट का प्रयोग राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बेंगलुरू, गोवा के साथ-साथ हरियाणा की मिलेनियम सिटी गुरूग्राम में भी सफल साबित हुआ है। उल्लेखनीय है कि दिल्ली-जयपुर नेशनल हाइवे पर गुरूग्राम से गुजरते समय दीवारों के सौंदर्यकरण को दुनिया भर में सराहा गया है।



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES