• A
  • A
  • A
'गुजराती नहीं बोलते थे तो पीटने लगते थे, वे कहते थे सभी बिहारी को मार देंगे'

पटना: गुजरात से लौटे बिहार के लोगों ने कहा कि 'हमलोग कंपनी में काम कर रहे थे तभी अंदर में घुसकर हमें मारते थे. बोलते थे जितने हिंदी बोलने वाले लोग हैं सभी को मार देंगे. चाहे वह उत्तर प्रदेश के हों या मध्य प्रदेश के, जो भी लोग हिंदी बोलते थे उसको मारते थे.'

गुजरात से लौटे मजदूर, नीतीश कुमार और शिवानंद झा का बयान.


इधर, गुजरात से लोग डर के मारे पलायन कर रहे हैं उधर वहां के डीजीपी शिवानंद झा ने कहा कि लोग छुट्टियां मनाने जा रहे हैं. 6 जिले (हिंसा से) प्रभावित हुए हैं. मेहसाणा और साबरकांठा सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं. इन जिलों में 42 मामले दर्ज किये गये हैं. अब तक 342 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जांच के दौरान आरोपियों के नाम सामने आने के बाद और लोगों को गिरफ्तार किया जायेगा.
ये भी पढ़ें - नीतीश कुमार ने गुजरात CM से की बात, कहा- हमारे लोगों को दें सुरक्षा
वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुजरात के सीएम विजय रुपाणी से बात की है. उन्होंने बिहारी मजदूरों पर हो रहे हमले को रोकने के लिए कहा है. सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि वह गुजरात के सीएम विजय रुपाणी के संपर्क में हैं. गुजरात के सीएम से मेरी बात हुई है. मैंने उनसे बोला है कि जिन लोगों ने अुपराध किया है उन्हें दंडित किया जाना चाहिए. लेकिन दूसरे लोगों के साथ गुजरात में कुछ भी गलत नहीं होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें - संजय निरुपम ने DGP को कहा झूठा, JDU ने कहा- राजनीति मत करो
गुजरात के साबरकांठा जिले में 14 माह की एक बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद वहां हिंदी भाषी लोगों के प्रति जबरदस्त गुस्सा है. इस वारदात को अंजाम देने का आरोप बिहार के एक व्यक्ति पर लगा है. घटना के बाद स्थानीय लोगों ने बिहार और यूपी के लोगों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है. वहां घर में घुस कर हिंदी भाषी लोगों को पीटा जा रहा है.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES