• A
  • A
  • A
छात्रा गैंगरेप-मर्डर केस: शिमला के 1200 वकीलों का फैसला, नहीं लड़ेंगे आरोपियों का केस

शिमला। कोटखाई में स्कूल की छात्रा से गैंगरेप और फिर हत्या के आरोपियों का मुकदमा लड़ने से जिला बार एसोसिएशन ने साफ इनकार कर दिया है। एसोसिएशन का कोई भी वकील अब छात्रा से गैंगरेप और हत्या के आरोपियों का केस नहीं लड़ेगा।

एसपी शिमला को ज्ञापन सौंपते बार एसोसिएशन के सदस्य।


बार एसोसिएशन ने शिमला पुलिस प्रशासन से मांग की है कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। वकीलों ने वीरवार को जिला न्यायालय में काम काज भी बन्द रखा। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रेम सिंह नेगी ने बताया कि एसोसिएशन की बैठक में यह फैसला लिया गया है कि इस घटना के दोषियों का केस उनके बार के सदस्य नहीं लड़ेंगे।


ये भी पढ़ें- शिमला गैंगरेप और हत्या मामले में एक गिरफ्तारी, संदिग्धों से SIT कर रही पूछताछ

नेगी ने कहा कि शिमला बार एसोसिएशन के करीब 1200 सदस्य हैं और इस मामले के दोषियों के केस को कोई भी वकील नहीं लड़ेगा। उन्होंने इस मामले को लेकर डीसी और एसपी शिमला को ज्ञापन भी सौंपा है। जिसमें मांग की गई है कि कोटखाई के मामले की जल्द से जल्द जांच हो और दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जाए। डीसी रोहनचंद ठाकुर ने उन्हें आश्वासन दिया है कि इस मामले के दोषी जल्द गिरफ्तार किए जाएंगे।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  चुनाव

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES