• A
  • A
  • A
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर लगा करोड़ों के घोटाले का आरोप, 2 IAS भी घेरे में

इंदौर। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और 2 आईएएस अफसरों पर संबल योजना के नाम पर 1300 करोड़ का घोटाला करने का आरोप लगा है, मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव राकेश सिंह यादव ने दस्तावेज के साथ इस घोटाले का खुलासा किया है. यादव ने सीएम कमलनाथ को पत्र लिखकर मामले की जांच करने की मांग की है.

शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री (फाइल फोटो).


मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव राकेश सिंह यादव ने आरोप लगाया कि संबल योजना के नाम पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनके चहेते आईएएस अफसरों संजय दुबे और एलपी पाठक की मदद से प्रदेश की आकस्मिक निधि में से 1300 करोड़ रुपए निकाल लिए हैं. इन रुपयों को अलग-अलग शहरों के कलेक्टर और सीईओ को बांटा गया.
पढ़ेंःकर्जमाफी की तारीख बढ़ाने पर पूर्व सीएम शिवराज ने प्रदेश सरकार पर कसा तंज, कहा- सरकार पहले इसे लागू करे
इसके बाद उन्होंने ट्रांसपोर्ट और भोजन के नाम पर यह रकम बैंक अकाउंट से कैश निकालकर जनआशीर्वाद यात्रा में आने वाले बीजेपी कार्यकर्ताओं को बांट दिया, कांग्रेस कमेटी के सचिव राकेश सिंह के मुताबिक आकस्मिकता निधि का इस्तेमाल प्रदेश में आने वाली किसी भी विपदा के समय किया जाता है. लेकिन, शिवराज सिंह चौहान ने चुनाव के 4 महीने पहले पार्टी को फायदा पहुंचाने के लिए इस फंड का गलत इस्तेमाल किया. कांग्रेस ने आरोप लगाया कि इस फंड को लेने से प्रदेश के 12 से 15 कलेक्टर ने भी मना कर दिया था, लेकिन, जिन कलेक्टर ने फंड लिया उन्होंने भी इस फंड को बीजेपी कार्यकर्ताओं में बांट दिया.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES