• A
  • A
  • A
इस दिग्गज जाट नेता की विधायक बेटी से थर्राया राजस्थान प्रशासन....SDM, थानेदार को सुनाई खरी-खरी

राजस्थान की राजनीति में सालों तक डंका बजाने वाले दिग्गज जाट नेता की विधायक बेटी ने चुनाव जीतने के बाद अधिकारियों को पहला तल्ख तेवर दिखाया. अपने विधानसभा क्षेत्र में पहुंची विधायक बेटी ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को जमकर खरी-खोटी सुनाई....

फोटो पर क्लिक कर देखें वीडियो ।


जोधपुर . राजस्थान की राजनीति में दिग्गज जाट नेता के रूप सालों तक पहचान बनाकर रखने वाले महिपाल मदेरणा की विधायक बेटी ने अधिकारियों को जमकर तेवर दिखाए. विधायक दिव्या मदेरणा चुनाव जीतने के बाद पहली बार ओसिया पहुंची, यहां पर दिव्या ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को ना केवल खरी-खरी सुनाई. बल्कि, यहां तक कह दिया कि राजस्थान में सर्वप्रथम मुख्यमंत्री हैं तो जोधपुर में हम. दिव्या के तेवर देख अधिकारियों की भी बोलती बंद हो गई. वहीं, विधानसभा क्षेत्र में उनके तेवर की चर्चा बनी हुई है.
पढ़ेंःवसुंधरा राजे नेता प्रतिपक्ष नहीं होंगी...कड़ा फैसला...दिल्ली ने लिया
मदेरणा परिवार की राजनीतिक विरासत को संभालने के लिए आगे बढ़ी दिव्या ने ओसियां विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीता है. चुनाव जीतने के बाद वे पहली बार अपने विधानसभा क्षेत्र में एक स्वागत कार्यक्रम के दौरान पहुंची. क्षेत्र के उम्मेदनगर इलाके में स्वागत कार्यक्रम के दौरान एसडीएम मौके पर नजर नहीं आए. इस पर दिव्या नाराज हो गई. दिव्या के कुछ देर तक इंतजार करने के बाद एसडीएम वहां पहुंचे. इस पर दिव्या ने नाराज होते हुए कहा कि 'एक बात बताऊं कि राजस्थान में सर्वप्रथम मुख्यमंत्री और फिर जोधपुर में हम हैं'. उन्होंने कहा कि सीएम के पास जाओ तब मेरी समझ में आए कि अर्जेंट काम आ गया. दिव्या ने तेवर तल्ख करते हुए कहा कि ओसिया की विधायक यहां है और आप ना जाने कौन से अर्जेंट काम से चले गए. उन्होंने कहा कि 'आप मुझे ढूंढिए, मैं प्रशासन को ढूंढने नहीं जाऊंगी'. वहीं, इसी स्वागत के दौरान दिव्या ने मथानिया के थानेदार राजेंद्र राजपूरोहित को भी आड़े हाथों लिया.

पढ़ेंःगहलोत सरकार ने 23 मंत्रियों को बनाया जिला प्रभारी...देखें सूची
उन्होंने थानेदार से कहा कि 'ओसियां की जनता का जाप्ता चलता है मेरे साथ, पुलिस जाप्ते की मोहताज नहीं हूं मैं. सभी ने गनमैन ले लिए, लेकिन मैने नहीं लिया. जनता ने जीताकर भेजा है, गनें हैं मेरे पास, शासन की गन है मेरे पास'. इसके बाद उन्होंने कहा आपके यहां से दो-तीन बड़ी शिकायतें हैं. तिंवरी फांटा व मथानिया फांटा पर चालान कर रहे हैं. जुड़ में उम्मेद नगर बाईपास पर 15-20 आदमियों की गैंग, वहां से कोई जाना नहीं चाहता है. थानेदार ने कहा वह उनके क्षेत्राधिकार में नहीं है. इस पर दिव्या ने कहा कि आप अपने डीसीपी से कह दीजिए. उन्होंने सभी जगह व्यवस्था सुचारू कर देना. यहां खड़े होकर नोट मांगने का सिस्टम बंद कर देना.' इस पर थानेदार ने कहा कि 'यदि कोई रुपए लेता है तो वो संबंधित को शिकायत कर सकता है. हमारे लेवल पर है तो आप मुझे बताइए'. मौके से जाते-जाते दिव्या ने कहा कि अब अलर्ट हो जाइए. गवर्नमेंट हेज चेंज्ड एण्ड एमएलए हेज चेंज्ड. वर्किंग की जो स्टाइल थी ना ढिलमढिलु, वो बदल दीजिए.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES