• A
  • A
  • A
महिला अध्यापकों ने मुंडवाया सिर,आर-पार की लड़ाई के मूड में टीचर

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी में अध्यापक अधिकार यात्रा के तहत शिक्षाकर्मियों ने अपना विरोध दर्ज कराया है। लंबे समय से समान कार्यों के लिए समान वेतन और उचित ट्रांसफर नीति की मांग को लेकर टीचरों ने अपना सिर मुंडवा लिया।


आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले प्रदेशभर के अध्यापक जंबूरी मैदान में जुटे हैं। हजारों की संख्या में पूरे प्रदेश से आए अध्यापकों ने मांगें नहीं मानने के विरोध में मुंडन करा लिया। शिक्षाकर्मियों ने सिर मुंडा कर अपने अधिकारों के प्रति सरकार का ध्यान खींचने की कोशिश की है। सिर्फ पुरुष ही नहीं महिला अध्यापकों ने भी मुंडन कराकर विरोध दर्ज कराया। अब तक 100 से ज्यादा शिक्षक सिर मुंडवा चुके हैं।

पढ़ें :
सीएम की सभा के बाद राघोगढ़ में बिगड़े हालात, दिग्गी के गढ़ में लगा धारा 144



तबादला बंधन मुक्त नीति को लागू करने की मांग
राजधानी भोपाल में अध्यापक अधिकार यात्रा के तहत शिक्षाकर्मियों ने अपना विरोध दर्ज कराया है। शिक्षाकर्मियों ने इसके साथ ही अन्य मांगें भी उठाई हैं।
हैरानी वाली बात ये है कि इस दौरान भी प्रदेश सरकार का कोई नुमाइंदा अध्यापकों का दर्द बांटने नहीं पहुंचा। शिक्षा विभाग में संविलियन और तबादला बंधन मुक्त नीति को लागू करने की मांग कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें :
'नर्मदा सेवा यात्रा' बनी 'नर्मदा सेवा घोटाला यात्रा', कहा- सब गोलमाल है


शिक्षा विभाग में संविलियन की मांग

प्रदेश सरकार के रवैए से नाराज महिला अध्यापकों ने सिर मुड़वा साथ ही विरोध स्वरूप प्रदेश की बीजेपी सरकार का पिंडदान भी किया। महिला अध्यापक जब अपने सर के बाल मुड़वा रहीं थी, तो उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े। इतना ही नहीं महिलाओं का मुंडन करने वाले नाई के भी हाथ कांप गए। अध्यापक शिक्षा विभाग में संविलियन की मांग कर रहे।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES