• A
  • A
  • A
भर्ती में धांधली, आवेदन निरस्त होने के बाद भी मिल गई नौकरी

बहराइच। एक तरफ जहां प्रदेश के सीएम योगी सरकारी भर्तियों में पारदर्शिता की बात कहते हैं, वहीं दूसरी ओर प्रदेश में राष्ट्रीय स्वाथ्य मिशन के तहत हो रही भर्तियों में जमकर धांधली की जा रही है। इसकी एक बानगी जनपद में देखने को मिली जहां पर आवोदन निरस्त होने के बावजूद युवती को नियुक्ति दे दी गई। वहीं, अधिकारी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।

निरस्त आवेदनों की सूची में युवती का नाम।


जिले के 14 विकास खंडों में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत हर ब्लाक में एक एक ब्लाक प्रोजेक्ट मैनेजर की नियुक्ति के लिये स्वास्थ्य विभाग की और से आवेदन मांगे गए थे। जिसके बाद सैकड़ो लोगों ने इसके लिये आवदेन किया। आवेदन पत्रों की जांच के बाद 100 लोगों के आवेदन अपूर्ण होने के कारण निरस्त कर दिए गए।


चयनित सूची में युवती का नाम।

इसके बाद 272 लोगों का साक्षात्कार लिया गया और बीते मंगलवार देर रात चयनित 14 लोगों की सूची जारी कर दी गई। लेकिन सूची में एक युवती का नाम देखकर अपात्र किये गए कई आवेदनकर्ताओं ने भर्ती प्रक्रिया पर सवाल खड़े करते हुये इसे निरस्त करने की मांग की है।

युवती के आवेदन में अनुभव अपूर्ण होने का हवाला देते हुये उनके आवेदन को स्वास्थ्य विभाग ने निरस्त कर दिया था। युवति का नाम साक्षात्कार के लिये चयनित सूची में भी नहीं था। इसके बावजूद 3 जनवरी को उसका साक्षात्कार लेने के साथ ही सूची में उसको चयनित कर दिया। जिसके बाद पूरी भर्ती प्रक्रिया संदेह के घेरे में आ गई है।

पढ़ेंः यूपीः बाराबंकी में स्प्रिट पीने से 9 लोगों की मौत

इस संबंध में जिले के आलाधिकारी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। वहीं, सवाल ये भी उठ रहा कि जब सैकड़ो लोगों के आवदेन को निरस्त कर दिया गया था। तो फिर किस दबाव के तहत बाकी लोगों को छोड़कर सिर्फ युवती का चयन भी कर लिया गया।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES