• A
  • A
  • A
बोली महिला, चार माह की हूं गर्भवती, मत करो मेरे साथ ऐसा

जालौन। जिला अस्पताल उरई में काउंसलर पद पर तैनात महिलाकर्मी ने अपने सहकर्मी पर यौन उत्पीडन के गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़िता कई दिनों से यौन उत्पीड़न का शिकार हो रही है। जब सहकर्मी की हरकत कुछ ज्यादा ही बढ़ने लगी तो पीड़िता ने कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी डॉ मन्नान अख्तर के सामने गुहार लगाई हैं।

प्रतीकात्मक फोटो।


काउंसलर पद पर जिला अस्पताल में कार्य कर रही पीड़ित महिला ने बताया कि जिला अस्पताल उरई में नेत्र चिकित्सक के पद पर तैनात हैं एक डॉक्टर व्हाट्सअप से मेरी प्रोफाइल फोटो निकालकर अपने व्हाट्सअप प्रोफाइल पर लगाकर अत्यंत अश्लील स्टेटस लिखते हैं।


यह रंगीन मिजाज डॉक्टर कई बार तो किसी और की गंदी तस्वीर लगाकर पीड़ित महिलाकर्मी का नाम लिख देता हैं। पीड़ित महिला चार माह की गर्भवती है और इस डॉक्टर की हरकतों की वजह से मानसिक रूप से परेशान है।
अपनी आपबीती सुनाते हुए पीड़ित महिलाकर्मी ने कहा कि अगर मेरी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो मैं आत्महत्या तक करने का भी मन बना चुकी है। पीड़ित महिला ने डीएम से गुजारिश की हैं इस मामले की जांच करा कर उक्त डॉक्टर पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

लड़कों के प्रपोजल का न करें इंतजार, खुद करें इजहार
महिलाओं के अंदर सुरक्षा का भाव जगाने वाली 1090 के दावे खोखले साबित हो रहे हैं। पीड़ित महिला ने 3 फ़रवरी को 1090 पर शिकायत दर्ज कराई थी। जिसका शिकायत नंबर 2018/M/029685 मिला। कोतवाली उरई से फ़ोन करके पूछा भी गया लेकिन कथित रुप से आरोपी डॉक्टर के पैसे और रुतबे के आगे पुलिस ने भी आगे की कार्रवाई से अपने हाथ खींच लिए।

जालौन जिलाधिकारी डॉक्टर मन्नान अख्तर ने बताया कि यौन उत्पीड़न की शिकायत लेकर एक युवती आई थी। जिसका शिकायत पत्र ले लिया गया है। एसपी महोदय मेरे पास बैठे है, मैंने इनको प्रार्थना पत्र सौंप दिया है। पूरे मामले की जांच कराई जाएगी। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES