• A
  • A
  • A
ट्रांसफर के अंतिम दिन एआरटीओ की ताबड़तोड़ छापेमारी, नेताओं के फोन पर भी नहीं रुके

नई टिहरी। एआरटीओ ज्योतिशंकर मिश्र ने अपने ट्रांसफर के अंतिम दिन सड़क पर वाहनों की ताबड़तोड़ छापेमारी की। कार्रवाई के दौरान दिल्ली नंबर की गाड़ी को लेकर कुछ बवाल हुआ। कार चालक ने नेता की धौंस दिखाते हुए फोन भी घुमाया, लेकिन वे नहीं टस से मस नहीं हुए और कार्रवाई जारी रखी। इस दौरान उनकी टीम ने 57 के चालान किए और 8 वाहनों को सीज किया।

एआरटीओ ज्योतिशंकर मिश्र ने की सड़क पर छापेमारी।


छापेमारी के दौरान कार पर राजनीतिक दल का झंडा और वीवीआइपी स्टीकर लगाने वालों पर एआरटीओ ज्योतिशंकर मिश्र और उनकी टीम ने कार्रवाई की। देररात श्रीनगर रोड तपोवन में एक दिल्ली नंबर की कार को सीज किया। कार चालक ने राजनीतिक रूप से दबाव बनाने के लिए इस दौरान नेताओं को फोन भी किए, लेकिन एआरटीओ ने चालक की एक नहीं सुनी।
पढ़ें- कार में 28 किलो गांजा भरकर रामनगर जा रहे थे तस्कर, पुलिस ने किया गिरफ्तार
एआरटीओ टिहरी ने ऋषिकेश-श्रीनगर रोड पर चेकिंग अभियान चला रहे थे। इस दौरान एआरटीओ ज्योतिशंकर मिश्र और सीओ जेपी जुयाल की टीम ने तपोवन में चेकिंग के लिए एक गाड़ी को रोका। दिल्ली नंबर की इस कार में राजनीतिक दल का झंडा और वीवीआइपी का स्टीकर लगाया हुआ था। कार का इंश्योरेंस भी नहीं था। इस पर कार को सीज कर दिया गया।
पढ़ें-प्याज के बोरों की आड़ ले जा रहे थे शराब की बड़ी खेप, एक गलत कदम से खुला राज
इस दौरान टीम ने दो ट्रकों का सरिया बाहर निकलने पर चालान कर दिया। साथ ही चालकों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है। टीम ने 57 चालान किए और आठ वाहन सीज किए। एआरटीओ ने बताया कि पांच वाहनों का खतरनाक ड्राइविंग पर चालान किया गया है। रात को चल रही यात्रा बस, परमिट निरस्त श्रीनगर से ऋषिकेश आ रही यात्री बस दस बजे एआरटीओ ने चेकिंग के दौरान तपोवन के पास पकड़ लिया। नियमों के मुताबिक पहाड़ों में आठ बजे के बाद यात्री वाहनों का संचालन नहीं किया जा सकता। लेकिन बस चालक ऋषिकेश की तरफ आ रहा था। एआरटीओ ने बस चालक का लाइसेंस निरस्त कर परमिट भी निरस्त कर दिया है।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES