• A
  • A
  • A
2 साल बाद फिर मिले दोस्त, जन्मेजय खंडूड़ी और दीपक रावत क्या दोहरा पाएंगे नैनीताल वाला करिश्मा?

देहरादूनः दोस्ती नाम है सुख-दुख के साथ का, दोस्ती राज है सदा मुस्कराने का, ये कोई पलभर की जान पहचान नहीं है, दोस्ती तो वादा है उम्रभर का साथ निभाने का...ये लाइन उत्तराखंड के दो अफसरों पर सटीक बैठती है. हम बात कर रहे हैं हरिद्वार के एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी और डीएम दीपक रावत की. दोनों अफसरों की आपस में खूब बनती है और यह हम नहीं ये फोटो बयां कर रही है. एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी और डीएम दीपक रावत हरिद्वार से पहले नैनीताल जिले में एक साथ काम कर चुके हैं. अब एक बार फिर दोनों अफसर हरिद्वार में एक साथ काम कर रहे हैं. आइये जानते हैं दोनों अफसरों की जुगलबंदी के बारे में.

हरिद्वार SSP जन्मेजय खंडूड़ी और DM दीपक रावत फुर्सत में.


आज उत्तराखंड में कुछ ऐसे पुलिस अधिकारी और जिलाधिकारी हैं, जिनका नाम सुनते ही भ्रष्टाचारियों में खलबली मच जाती है. क्राइम करने वालों में इनके नाम से ही तहलका मच जाता है. ऐसे ही तेज तर्रार अधिकारियों में शामिल हैं हरिद्वार के एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी और डीएम दीपक रावत. खंडूड़ी और रावत दोनों अपने कामों से उत्तराखंड के सबसे चर्चित ऑफिसर हैं. यहां तक कि डीएम दीपक रावत साल 2017 में गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किए जाने वाले IAS अधिकारी रहे थे.

पढ़ें- खेल महाकुंभः खिलाड़ियों ने खेल मंत्री से पूछे सवाल, कब मिलेगी किट, इसी साल या अगले साल...
साल 2015-2016 से शुरू हुआ जन्मेजय खंडूड़ी और दीपक रावत का सफर काफी दिलचस्प रहा है. दोनों अफसरों ने नैनीताल में पोस्टिंग के दौरान कई ऐसे मामलों का खुलासा किया, जो पुलिस और सरकार के लिए चुनौती बना हुआ था. इसी समय उत्तराखंड में माओवादियों की धमक से सरकार परेशान थी. लेकिन एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी और डीएम दीपक रावत ने मिलकर माओवादी नेटवर्क का बड़ा खुलासा किया.
नैनीताल पुलिस ने 50 हजार के इनामी माओवादी देवेंद्र चम्याल और उसकी महिला साथी भगवती भोज को अरेस्ट किया था. देवेंद्र चम्याल को उत्तराखंड पुलिस और खुफिया एजेंसियां काफी वक्त से ढूंढ रही थी.

पढ़ें-दहेज हत्या में पति, सास और ननद को मिली सात साल की कैद, पुलिसकर्मियों पर भी होगी कार्रवाई
देवेंद्र चम्याल की गिरफ्तारी के बाद प्रदेश में माओवाद की कमर टूट गई, इस घटना के बाद दोनों अफसरों की हर ओर चर्चा होने लगी. वहीं जन्मेजय खंडूड़ी और दीपक रावत जब भी किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में मिलते दोनों के बीच संगीत प्रेम भी खूब देखने को मिलता.

दोनों अफसरों ने एक साथ मंच साझा कर एक से बढ़कर एक गीत गाकर लोगों के दिलों में अपनी जगह बना ली. अब एक बार फिर दोनों की यही जुगलबंदी हरिद्वार में भी देखने को मिल सकती है.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES