• A
  • A
  • A
औरतों को नहर में खींच मार डालते हैं गोताखोर? आमने-सामने बीजेपी MLA-SSP

नई दिल्ली/गाजियाबाद। राजधानी से सटे गाजियाबाद के मुरादनगर में स्थित छोटा हरिद्वार मंदिर की गंग नहर का मामला शांत होता दिखाई नहीं दे रहा है। इस मामले में दो अन्य विधायकों के हस्तक्षेप के बाद एसएसपी ने कहा कि आरोपों से मिलती-जुलती कोई शिकायत नहीं मिली।

देखें पूरा वीडियो।


गाजियाबाद के लोनी के बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर अपने एक लेटर पर चौतरफा घिर गए हैं। गाजियाबाद एसएसपी ने उनके उस लेटर का जवाब दिया है, जिसमें विधायक ने आरोप लगाया था कि मुरादनगर के छोटा हरिद्वार मंदिर की नहर पर नहाने आए लोगों की हत्या कर लूटपाट दी जाती है। विधायक ने मंदिर के पुजारी समेत गोताखोरों पर यह आरोप लगाए थे।


ये भी पढ़ें- LG पर भड़का सुप्रीम कोर्ट- 'खुद को सुपरमैन कहते हैं, 25 बैठक में 50 कप चाय पी गए'
MLA के आरोपों से मिलती-जुलती कोई शिकायत नहीं
आरोप पर मंदिर के महंत ने कहा है कि विधायक के आरोप बेबुनियाद है। महंत ने इशारों-इशारों में आरोप लगाने वाले के लिए यह कह दिया कि असामाजिक तत्वों को यहां ठोक दिया जाता है।

वहीं इस मामले में पहली बार गाजियाबाद पुलिस ने चुप्पी तोड़ी है। गाजियाबाद एसएसपी ने लेटर का जवाब कैमरे पर दिया है। एसएसपी ने बताया कि विधायक के आरोपों से मिलती-जुलती कोई शिकायत अब तक नहीं मिली है। किसी ने ऐसा आरोप नहीं लगाया है, हालांकि मामले की जांच एसपी देहात को दी गई है।
ये भी पढ़ें- जेल में आ चुका है मौत का सामान' कैदी की पत्नी ने किया सनसनीखेज खुलासा
मंदिर प्रशासन की तरफ से वीडियो जारी
इस बीच मंदिर प्रशासन की तरफ से एक वीडियो जारी किया गया है। जिसमें गोताखोर कुछ लोगों की जान बचाते हुए दिख रहे हैं। मंदिर के महंत का कहना है कि यहां पर लोगों की जान बचाई जाती है, किसी की जान लेने का कोई मकसद नहीं होता है। उन्होंने कहा कि यह सब असामाजिक तत्वों का काम है, जो गलत काम करते हैं। लेकिन मंदिर में ऐसा कुछ नहीं होता है और ना ही मंदिर परिसर में नहर पर कोई गैर-कानूनी काम होने दिया जाता है।

ये भी पढ़ें- सड़क सुरक्षा पर सख्त सुप्रीम कोर्ट, 'राज्य सरकारें और संबंधित एजेंसियां क्या कर रही हैं'
बिना सबूतों के लगाए गए हैं आरोप
शुरू से ही यह साफ था कि विधायक ने किसी तरह का कोई सबूत नहीं दिया है और सीधे मंदिर पर आरोप लगा दिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद महंतों को बेहद सम्मान देते हैं। ऐसे में महंत मुकेश गिरी ने अब मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ को शिकायत की है और शिकायत में कहा है कि उनको बदनाम करने के लिए यह सब किया जा रहा है। सीधे तौर पर विधायक की शिकायत इसे कहा जा सकता है, लेकिन यह शिकायत इशारों में की गई है।

शिकायत में विधायक का नाम नहीं लिखा गया है। इसके पीछे की वजह बताई जा रही है कि महंत मुकेश गिरी काफी डरे हुए हैं। देखना यह होगा कि पूरी जांच के बाद क्या कुछ साफ होता है। लेकिन विधायक नंदकिशोर के द्वारा बिना सबूतों के लगाए गए आरोपों के बाद विधायक की मुश्किलें बढ़ती हुई दिखाई दे रही हैं।
ये भी पढ़ें-'अमीर स्कूल में गरीब छात्र को पानी के बदले डेस्क पर दे मारा', परिवार का भेदभाव का आरोप
पूरा मामला-
बता दें कि कुछ दिन पहले गाजियाबाद के लोनी में बीजेपी से विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने एक लेटर जिलाधिकारी को लिखा था। जिसमें कहा था कि छोटा हरिद्वार मंदिर पर नहाने आए लोगों को नहर के अंदर डुबो दिया जाता है। लेटर में आरोप लगाया गया था कि मंदिर के प्रशासन की मिलीभगत से गोताखोर यह काम कर रहे हैं। लोगों को डुबोने के बाद उनकी हत्या कर लूट लिया जाता है।

आरोप ये भी था कि शव निकालने के नाम पर भी परिजनों से पैसे मांगे जाते हैं। इस लेटर के बाद बवाल मचा हुआ था। यह लेटर वायरल भी हो गया था और सब लोग छोटा हरिद्वार मंदिर पर आरोप लगा रहे थे।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES