• A
  • A
  • A
इस युवा को राष्ट्रपति बनाने की हो रही है मांग, जानिए इनके बारे में...

लखनऊ। जहां देश को आजाद कराने के लिए युवा भगत सिंह ने खुद को झोंक दिया था, वहीं स्वामी विवेकानंद जैसे महापुरुष ने भारत को अग्रणी देश बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। आज का दौर भी युवाओं का दौर है। देश का भविष्य युवाओं के हाथों में है। लखनऊ में देश भर से इकट्ठा हुए कई नामी के संस्था के युवाओं ने लेखक शिशिर श्रीवास्तव को राष्ट्रपति बनाने की मांग राजनीतिक दलों से की है।

राष्ट्रपति बनाने की मांग करते एसोसिएशन के लोग।


युवा बदलाव और क्रांति ला सकता है

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी नोटबंदी के बाद अपने भाषण में कहा था कि देश के युवा इस सिस्टम को बहुत जल्दी अपना सकते हैं और एक माह के भीतर दुनिया में एक आधुनिक भारत की तस्वीर देखी जा सकती है। उन्होंने इस काम के लिए युवाओं से ही आह्वान किया कि युवा बदलाव के सिपाही बनें और इसे आगे बढ़ाएं। उन्होंने कहा था कि हम जानते हैं कि युवा ही बदलाव और क्रांति ला सकते हैं।


शिशिर श्रीवास्तव को राष्ट्रपति बनाने की मांग

देश के कई प्रदेशों से इकट्ठा युवाओं ने सभी राजनीतिक दलों से मांग की है कि वह अगले राष्ट्रपति के रूप में 39 वर्षीय युवा प्रेरक वक्ता एवं लेखक, शिशिर श्रीवास्तव को चुनें। इस संगोष्ठी में शिशिर श्रीवास्तव ने मुख्य वक्ता के रूप में 'भारत में युवा: आशाएं, चुनौतियां और अवसर' पर बोला। इस संगोष्ठी का आयोजन न्यू इंडिया बेटर इंडिया यूथ एसोसिएशन (NIBIYA) ने किया था, जो कि एक गैर-राजनीतिक एवं गैर-लाभकारी संगठन है। यह संगठन भारत के युवाओं को सशक्त करने के लिए काम कर रहा है।

संगोष्ठी में शिशिर श्रीवास्तव, ने कहा कि भारत में युवाओं को युवाओं के लिए खड़े होने का समय आ गया है। युवाओं में महान ऊर्जा छिपी है और हमारे भारत वर्ष में खेतों से लेकर शहरों तक और शहरों से लेकर देश तक करोड़ों प्रतिभावान युवा हैं जो कि हमारे देश और दुनिया को बदलने में सक्षम हैं। हमें तो बस उनकी ऊर्जा को सही दिशा में निर्देशित करना है।

कौन है शिशिर श्रीवास्तव
शिशिर श्रीवास्तव ने 1980 से 1995 तक सीएमएस में शिक्षा ग्रहण किया है। सन 2000 से जून 2016 तक सीएमएस में कार्यरत भी रहे। साल 2014 में उन्होंने देश की पहली महिला आईपीएस और समाजसेवी किरण बेदी के साथ 'Youth for Youth' प्रोजेक्ट पर काम किया था। यह प्रोजेक्ट युवाओं को भ्रष्टाचार और महिला सुरक्षा के मुद्दे पर जागरुक करने के लिए शुरू हुआ था। शिशिर को लखनऊ के मेयर, डा. दिनेश शर्मा ने 'Young Communicator Award 2009' का खिताब भी दिया था। वह देश-विदेश में लोगों के बीच उत्साहधर्मिता पैदा करने के लिए जाने जाते हैं।

वहीं, इस अवसर पर एक पैनल डिस्कशन का भी आयोजन किया गया। जिसमें अभय आदित्य सिंह, प्रेसिडेंट, नगाड़ा फाउंडेशन (दिल्ली), देश दीपक द्वेदी, संस्थापक, Lithics.in (नई दिल्ली), संदीप कुमार शिंदे, युवा किसान, (वाई, महाराष्ट्र) व्हिटनी, विश्व शांति गायक (मिजोरम), कृष्णा पाल सिंह, युवा किसान (उत्तर प्रदेश), रुचिरा शर्मा, नार्थ ईस्ट फैशन प्रमोटर (मणीपुर) एवं अमित राय, शिक्षक (उत्तर प्रदेश) उपस्थित थे। इस प्रोग्राम में उत्तर प्रदेश, बिहार, दिल्ली एवं एनसीआर, महाराष्ट्र, मणिपुर, मिजोरम और पंजाब से युवा एकत्र हुए।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  धर्मक्षेत्र

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  MAJOR CITIES