• A
  • A
  • A
विद्रोह का खुला एलान, शिवपाल ने कहा- 'हां हमने कोविंद को दिया वोट'

लखनऊ। राष्ट्रपति चुनाव में जारी वोटिंग के साथ ही समाजवादी पार्टी में विद्रोह का खुलकर सामने आ गया। पार्टी मुखिया अखिलेश के आदेश के बाद भी कई विधायक क्रॉस वोटिंग करते हुए रामनाथ कोविंद के लिए मतदान किया है।

वोट देने के बाद सपा विधायक शिवपाल यादव


अभी विधानसभा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान जारी है। ईनाडु इंडिया ने पहले ही अपने लेख में सपा में क्रॉस वोटिंग की आशंका जताई थी। ऐसे में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के चाचा व पूर्व कैबिनेट मंत्री ने वोट देने के बाद कहा कि हमने रामनाथ कोविंद को वोट किया। यह पहली बार हुआ है कि किसी पार्टी में नेता पार्टी लाइन को दर किनार कर खुलेआम विद्रोह की बात कही हो। माना जा रहा है कि राष्ट्रपति चुनाव के साथ ही सपा में एक बार फिर से गृहयुद्ध के भारी आसार बन गए हैं।

'जो नेताजी कहेंगे वही करूंगा'
वोट देने के बाद शिवपाल यादव ने कहा कि हमको सिर्फ नेताजी (मुलायम सिंह यादव) से मतलब है। जो वो कहेंगे मै वही करूंगा। उन्होंने कहा कि नेता जी पहले की रामनाथ कोविंद को वोट करने का एलान किया था।

अखिलेश ने किया है मीरा कुमार का समर्थन
भाजपा नीत एनडीए ने पहले रामनाथ कोविंद को अपना उम्मदवार बनाया था तब अखिलेश यादव ने प्रथम दृष्टया उनका समर्थन करने की बात कही थी। इसके लिए वो रामनाथ का यूपी कनेक्शन बड़ी वजह बताया था। हालांकि विपक्ष ने जैसे ही अपने उम्मीदवार की घोषणा की अखिलेश ने पाला बदलते हुए मीरा कुमार को समर्थन देने की बात कह दी।

शिवपाल ने पहले ही लगा दी थी 'फील्डिंग'
गौरतलब है अपना अलग मोर्चा बनाने की कवायद में जुटे शिवपाल यादव राष्ट्रपति चुनाव के जरिए पार्टी में अपना कद नापने की कोशिश कर रहे हैं। लिहाजा अपने समर्थक विधायकों को रामनाथ कोविंद के लिए वोट करने की अपील भी की थी। इसके लिए उनके खास समर्थक व पूर्व सपा नेता दीपक मिश्रा ने एक पत्र भी जारी किया था। जिसमें वो पार्टी विधायकों व सांसदों को रामनाथ कोविंद को वोट करने की बात कही थी।

भारी समर्थन से भाजपा खुश
एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को मिल रहे भारी समर्थन से उत्साहित भाजपा ने कहा कि सभी पार्टियां रामनाथ कोविंद के लिए वोट डाल रही है। यूपी सरकार के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि सपा और बसपा ने जमकर क्रॉस वोटिंग की जा रही है। इससे यह बात साबित हो गई कि केंद्र की मोदी सरकार के निर्णय से ज्यादातर जनप्रतिनिधि भी खुश है चाहे वो भले ही किसी अन्य पार्टी का प्रतिनिधित्व करते हैं।

यूपी विधानसभा के वोटों की कीमत ज्यादा
राज्य विधानसभाओं में उत्तर प्रदेश के विधायकों का सर्वाधिक मत मूल्य 83,824 है। यह प्रति विधायक 208 मतों का आंकड़ा है। वहीं, सिक्किम विधानसभा में सबसे कम मत मूल्य 224 है और यह प्रति विधायक सात मतों का आंकड़ा है। जबकि यूपी के राज्य सभा और लोक सभा सदस्यों के मत का मूल्य 708 है।

20 जुलाई को वोटों की गिनती होनी है। 25 जुलाई को शपथ ग्रहण समारोह होगा। देश के चीफ जस्टिस नए राष्ट्रपति को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे।

भारी सुरक्षा के बीच वोटिंग जारी
विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मतदान की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है। मतदाताओं द्वारा डाला गया मत गोपनीय रहेगा। विधानसभा सुरक्षा को लेकर हाई अलर्ट है। एंट्री गेट पर बगैर पास के किसी को एंट्री की इजाजत नहीं है। गेट 7 पर लगाए जा रहे नए कैमरे लगा दिए गए हैं।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  खानपान

  सहेली

  गैलरी

  धर्मक्षेत्र

  टूरिज़्म

  جمو & کشمیر

  MAJOR CITIES