• A
  • A
  • A
निलंबित प्राचार्य ने कहा- 'शासन स्तर पर हुई पेमेंट में देरी'

गोरखपुर। बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में हुई मासूमों की मौतों का ठीकरा प्रदेश सरकार ने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. राजीव मिश्रा पर फोड़ दिया है, लेकिन वहीं निलंबित प्राचार्य डॉ राजीव मिश्रा ने कहा कि शासन स्तर पर पेमेंट में देरी की वजह से पैसे नहीं दिए जा सके।

मीडिया से बात करते बीआरडी के निलंबित प्राचार्य डॉ, राजीव मिश्रा


हालांकि निलंबित प्रिंसिपल ने कहा कि ऑक्सीजन की वजह से किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। मौते अलग-अलग कारण हो सकते हैं ये जांच करते पता चल पाएगा। उन्होंने कहा कि कई बार पेमेंट के लिए सरकार को पत्र लिख चुका हूं।


अपने निलंबन के बाद पहली बार मीडिया के सामने आए पूर्व प्राचार्य डॉ. राजीव मिश्र ने कहा कि मैने अपना इस्तीफा दिया है, अभी मेरे पास निलंबन से संबंधित कोई भी कागज नहीं आए हैं।

उनका कहना है कि 10 अगस्त को इनके पास फोन आया की आक्सीजन सिलेन्डर केएचटीएम हो गया है मगर वैकल्पिक व्यवस्था से मेडिकल कॉलेज में इलाज किया जा रहा था शासन स्तर से पेमेंट करने मे देरी हुई है।

उन्होंने कहा कि जहां तक ऑक्सीजन की आपूर्ति है उसके लिए मैने शासन को जुलाई में ही पत्र लिखकर अवगत कराता रहा कि सप्लायर कंपनी को पैसा देना है, तब शासन ने संज्ञान नहीं लिया। उन्होंने सवाल उठाया कि वीडियो कांफ्रेंसिंग में भी कई बार पेमेंट की बात कही थी। तब इस पर संज्ञान क्यूं नहीं लिया गया।

योगी ने कही समय से पेमेंट की बात
गौरतलब है कि बच्चों की मौत के बाद मचे हाहाकार के बीच सीएम योगी खुद मीडिया के सामने आए और उन्होंने ऑक्सीजन से बच्चों की मौत की बात को सिरे से खारिज कर दिया। इस दौरान उन्होंने कॉलेज प्रशासन को समय से पूरा पेमेंट करने की बात भी कही। इसके लिए उन्होंने बकायदा तारीख भी बताई है।



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  धर्मक्षेत्र

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  MAJOR CITIES