• A
  • A
  • A
एक ऐसा द्वीप जहां इंसान नहीं जहरीले सांपों का है बसेरा

दुनिया में यूं तो बहुत खतरनाक जगहें मौजूद हैं लेकिन इन खतरनाक जगहों में स्नेक आईलैंड अपनी एक अलग ही जगह रखता है। आज हम आपको ब्राजील के एक ऐसे आइलैंड के बारे में बता रहे है जहां केवल जहरीलें गोल्डन पिट वाइपर सांपो कि हुकूमत चलती है। यह है ब्राज़ील के Sao Paulo से 93 मिल दूर समुद्र मे स्तिथ एक आइलैंड जिसका नाम Ilha de Queimada Grande है, पर इसे सब स्नेक आइलैंड कहते है।


यहां पर इन सांपो कि संख्या इतनी अधिक है कि हर एक वर्ग मीटर में पांच सांप रहते हैं यानि कि आपके सिंगल बेड जितनी जगह में दस सांप और डबल बेड जितनी जगह में बीस सांप। यही नहीं इन सांपों कि गिनती विश्व के सबसे जहरीले सांपो में होती है। इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते है इस सांप के काटने से आदमी 10 से 15 मिनट के अंदर मर जाता है। पूरे ब्राजील मे सांपो के काटने से होने वाली मौतों में से 90 प्रतिशत मौतों के लिए यही सांप जिम्मेदार हैं।


इस आइलैंड का एरिया 4,30,000 वर्ग मीटर हैं। यानि कि इस आइलैंड पर करीब 20,00,000 (बीस लाख) जहरीलें गोल्डन पिटवाइपर सांप रहते है। यहां पर सांप हर जगह दिखाई देते हैं जमीन पर चलते हुए, पेड़ो से लटकते हुए, चट्टानों में छिपे हुए। जहरीले सांपो कि इतनी अधिक संख्या के कारण, ब्राजीलियन नेवी ने आम इंसानो का इस पर जाना प्रतिबंधित कर रखा है केवल सर्प विशेषज्ञों को शोध के लिए जाने कि आज्ञा है पर वो भी केवल तटीय इलाके में शोध करके लौट आते है आइलैंड के ज्यादा अंदर जाने कि किसी कि भी हिम्मत नहीं पड़ती है।

यह आइलैंड शुरू से ऐसा नहीं था। यहां पर पहले सांपों की इतनी आबादी भी नहीं थी और जो थे वो आइलैंड के मध्य वाले भाग में थे जो कि ज्यादा घना था । यहां पर तट के पास एक लाइट हाउस बना हुआ है जिसमे कि ब्राजीलियन नेवी का एक कर्मचारी ड्यूटी दिया करता था। वो केअर टेकर अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ लाइट हाउस में बने एक कॉटेज में रहता था। ब्राज़ीलियन नेवी का एक जहाज उनके पास उनकी जरूरत का सामान पहुंचाया करता था।

लेकिन धीरे धीरे यहां सांपों की संख्या बढ़ने लगी और तट के पास वाले इलाके में भी सांप नज़र आने लगे। एक दिन कुछ जहरीलें गोल्डन पिटवाइपर सांप उनके कॉटेज में खिड़की से घुस गए। असल में खिड़की का कांच टूट गया था और उनका ध्यान उस और गया नहीं था। जहरीलें गोल्डन पिटवाइपर सांपो को कॉटेज में देखकर सारा परिवार डर गया और जान बचाने के लिए सारे तट कि और भागे जहां उनकी नाव बंधी थी पर अफ़सोस उनमे से कोई भी वहा तक नहीं पहुंच पाया वे सब रास्ते में ही सांपो का शिकार बन गए। अगले दिन जब नेवी का जहाज वहा सामान उतारने पंहुचा तो उन सबकी लाशें लाइट हाउस को जाने वाले रास्ते पर पड़ी मिली जो कि जहर के कारण एकदम काली पड़ चुकी थी। इस घटना के बाद लाइट हाउस को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया और इस आइलैंड पर इंसानों का जाना प्रतिबंधित कर दिया गया।

इस आइलैंड से जुड़ी हुई एक और घटना स्थानीय लोग बताते है। इस आइलैंड पर केले के पेड़ भी बहुतायत से पाये जाते है। एक बार एक नाविक अपने साथियों के मना करने के बावजूद अंदर केले लेने चला गया पर वो वहां पर सांप का शिकार हो गया। वो किसी तरह वापस अपनी नाव तक तो पहुच गया पर ज़िंदा नहीं बचा।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  धर्मक्षेत्र

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  MAJOR CITIES