• A
  • A
  • A
नरकंकाल से बना यह खौफनाक चर्च आपको डरा देगा।

आपको बता दे यह दुनियां अजीबोगरीब कारनामों से भरी हुई है। आपने बहुत सारे चर्च देखे होंगे लेकिन जिस चर्च के बारे हम आपको बताने जा रहे हैं, वो आपके होश उड़ा देंगी। शायद ही आपने उसके बारे में कभी सुना होगा। लेकिन इस चर्च के बारे में जानकर आप दांतों तले उंगली दबा लेंगे।


वैसे तो आप जानते ही है कि चर्च को पूजा का स्थल माना जाता है, लोग यहां परमात्मा से अपनी मुरादे मांगने आते हैं। वैसे चर्च एक से एक सुंदर भी हैं, प्राचीन चर्चों को देखें तो उनकी सुंदरता अविस्मरणीय है। लेकिन इस दुनिया में एक ऐसा भी चर्च है जो इंसान की हड्डियों और कंकालों से इस चर्च को सजा-संवारा गया है।


चेक गणराज्य की राजधानी प्राग में एक ऐसा चर्च है जहां जाने से डर लगता है क्योंकि इस चर्च की इमारत इंसानों की हड्डियों से बनाई गई है। सुनने में थोड़ा अजीब जरूर लगेगा लेकिन यह बात सच है और इस इमारत को सजाने में करीब 40000 हड्डियों का इस्तेमाल किया गया है।


यह चर्च सुंदर तो है पर एक बात इसे खौफनाक बना देती है वह है इसका चालीस हजार मानव हड्डियों से सजना। इस चर्च में हजारो लोगो की हड्डियों और कंकालों को सहज कर रखा गया है। फ्रेंटीसेक राइंड नाम के एक शख्स ने इन्हीं मरे हुए लोगों के कंकालों को निकाला और चर्च को सजाने का काम शुरू किया। जिस वजह से इसे चर्च ऑफ बोन्स भी कहा जाता है। इस चर्च को देखने के लिए हर साल 2 लाख लोग यहां पहुंचते हैं।


मानव हड्डियों से सजाया हुआ चर्च
ऐसा कहा जाता है कि यह दुनिया का सबसे खौफनाक चर्च है। यहां संत (इसाई पादरी) अनंत काल के लिए विश्राम कर रहे हैं। सबसे पहले यहां शव को अस्थाई रूप से कब्र बनाई जाती है, बाद में कुछ सालों बाद उसके हड्डियां निकाल कर यहां चर्च में ऑस्युअरी में रखी जाती हैं।


इसी तरह की ऑस्युअरी के उदाहरण यूरोप इटली के रोम, मिलान आदि में भी मिल जाते हैं। स्पेन के वाम्बा गांव में तो 12वीं से लेकर 18वीं शताब्दी के नरकंकाल रखे गए है। इस चर्च के सभी संत आज भी चर्च का हिस्सा हैं। करीब 40 हजार लोगों की हड्डियों को यहां कला का रूप देकर 1870 सजाया गया।



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  धर्मक्षेत्र

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  MAJOR CITIES