• A
  • A
  • A
यहां साल में होते हैं 13 महीने, कॉफी की है यह जन्मदाता

अगर आप कहीं घूमने जाना चाहते हैं और ऐसी जगह जहां ऐतिहासिक तौर पर कई सारें बातें आपको जानने को मिले, तो इथियोपिया का नाम अपने विसिटिंग डेस्टिनेशन में डालना गलत नहीं होगा। आप भी चौंक गए होंगे कि ऐसा क्या है इथियोपिया में जानने लायक।


आपको बता दें अफ्रीका का यही वह स्थान है, जहां पर सबसे पहले मनुष्य ने अपने पैरों पर खड़े होकर चलना सीखा। एक तरह से आप कह सकते हैं कि मनुष्य का जन्म इसी धरती पर हुआ। हम इथियोपिया के कुछ ऐसे ही रोचक तथ्यों से आपको रूबरू कराना चाह रहे हैं जिसे जानकर आप हैरत में पड़ जाएंगे।


30 साल तक अकाल की मार झेल चुके इस देश के बारे में आपको बता दें कि इकोनॉमी स्तर पर तेजी से ग्रो करने के मामले में दुनिया की यह पहली कंट्री है।

इथियोपिया से जुड़े कुछ रोचक तथ्य



1. यहां साल में होते हैं 13 महीने
आप भी यह सोचकर चौंक गये होंगे। लेकिन यह सच है, यहां के लोग जिस कैलेंडर को फॉलो करते हैं वह बाकी देशों से एक दम अलग है। जिसके कारण यहां साल में 12 की जगह 13 महीनें होते हैं। यहां के लोग कई हजार साल पुराने स्पाइनल टैप के सिद्धांत 'हमेशा एक से अधिक होना अच्छा होता है' पर विश्वास रखते हैं।



2. यहां का इथोपियन टाइम
जैसे इथोपियन्स के लिये साल अलग होते हैं कुछ ऐसा ही वहां का टाइम भी अलग होता है। वहां 1 बजे सूरज उगता है और 12 बजे अस्त होता है। अगर आप वहां जाने की सोच रहे हैं तो यह कंफर्म कर लिजियेगा कि आप इथोपियन टाइम के अकार्डिंग चल रहे हैं या वेस्टर्न।



3. वेजिटेरियन्स के लिये है अच्छी जगह
अगर आप वेजिटेरियन हैं तो आपको यहां जाने के पहले सोचने की जरूरत नहीं है कि खाना कैसा होगा। बेशक यहां के लोग नॉन वेज खाते होंगे लेकिन यहां के कुछ रेस्टोरेंट्स में आपको मेन्यू में वेज भी मिल जाएगा।



4. कॉफी का जन्मदाता
आप में से कुछ लोग होंगे जिनके दिन की शुरुआत बिना कॉफी के नहीं होती। अगर आपको आज कॉफी नसीब हो सकी है तो इथियोपियन्स की वजह से। तो आपको सचमुच उनका शुक्र गुजार होना चाहिये।



5. मनुष्यता की जन्मभूमि
अगर आज आप सुकून भरी मनुष्य के तौर जिंदगी जी पा रहे हैं तो आपको जरूर एक बार इथियोपिया जाना चाहिये जहां हमारे पूर्वजों ने जन्म लिया था। इसकी पुष्टि पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने भी की है। 1972 में दो वैज्ञानिकों को यहां 3.2 मिलियन साल पुराना होमिनीड का स्केलेटन मिला था। होमिनीड मनुष्य को जन्म देने वाली एप्स का एक फैमिली नेम है। इसके अंदर एप्स की वे प्रजातियां आती हैं जिनसे मनुष्य का जन्म हुआ है।



6. क्रिस्चियानिटी का जन्मदाता

आप क्रिस्चियन धर्म का जन्मदाता इस देश को कह सकते हैं। पुरातत्ववेतताओं का कहना है कि अध्ययन में पता चला है कि यहीं से एडी-324 ईसा से यह दुनिया का सबसे पहला क्रिस्चियन देश था। लेकिन कुछ रिसर्चर्स अमेरिका को इसका जन्मदाता मानते हैं।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  धर्मक्षेत्र

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  MAJOR CITIES