• A
  • A
  • A
15वीं विधानसभा का पहला सत्र आज से शुरू, 15 साल बाद विपक्ष में बीजेपी

भोपाल। मध्यप्रदेश में 15वीं विधानसभा का पहला और शीतकालीन सत्र सोमवार यानि आज से शुरू हो रहा है. सत्र की शुरुआत 11 बजे वंदेमातरम गान के साथ हुआ. जिसके बाद 11:15 बजे सबसे पहले मध्यप्रदेश और देश की विभूतियों को जो इस वर्ष नहीं रहे उनको श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए.

15वीं विधानसभा का शपथग्रहण.


15 वीं विधानसभा के पहले सत्र का आगाज हुआ, विधानसभा सचिवालय की ओर से विधायकों को जारी की गई सूचना में 7 जनवरी को सुबह 11 बजे सदन में उपस्थित होने का आग्रह किया गया था. जहां वंदे मातरम् गान के बाद सदन की कार्यवाही शुरू की गई. प्रोटेम स्पीकर 229 विधायकों को शपथ दिलाएंगे. शपथ ग्रहण कार्यक्रम देर शाम तक चलेगा. जिसके बाद निर्वाचित सदस्य हस्ताक्षर करने के साथ-साथ स्थान भी ग्रहण करेंगे.

पढ़ें: हॉर्स ट्रेडिंग की खबरों के बीच सीएम हाउस पर कांग्रेसी दिग्गजों की बैठक
मध्य प्रदेश में नई सरकार के गठन के बाद या पहला अवसर होगा जब सत्ताधारी कांग्रेस पक्ष में बैठेगी और 15 साल तक मध्यप्रदेश पर राज करने वाली बीजेपी विपक्ष की भूमिका में नजर आयेगी. हालांकि भारतीय जनता पार्टी अभी से सरकार को अस्थिर बता रही है. क्योंकि निर्दलीय विधायकों के समर्थन से ही कांग्रेस की सरकार बनी है. वहीं कांग्रेस लगातार बीजेपी पर भी आरोप लगा रही है कि वह उसका बहुसंख्यक बल कम करने की कोशिश में जुटी हुई है . अब देखना यह होगा कि विधानसभा का यह सत्र कितने दिन और कैसे चलता है.

बता दें कि 8 जनवरी को विधानसभा में राज्यपाल का अभिभाषण होगा. क्योंकि परम्परा के मुताबिक नई सरकार के पहले विधानसभा सत्र में राज्यपाल का अभिभाषण होता है. अभिभाषण में राज्यपाल द्वारा कांग्रेस सरकार को मिले जनादेश का उल्लेख किया जायेगा.

वहीं कांग्रेस सूत्रों के हवाले से खबर है कि सत्र के बीच में मंत्रीमंडल का विस्तार हो सकता है. जिसके बाद तीन और विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जा सकती है. जिसमें बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा और बसपा के दो विधायकों में से एक तथा एक निर्दलीय विधायक को मंत्री बनाया जा सकता है.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES