• A
  • A
  • A
पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणामों पर एक नजर

हैदराबाद/नई दिल्ली: पांच राज्यों में हुए चुनाव के परिणाम करीब-करीब आ चुके हैं. राजस्थान, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिल चुका है. मध्यप्रदेश में कांग्रेस को बढ़त मिली है. तेलंगाना में टीआरएस ने जोरदार तरीके से अपने आपको स्थापित कर लिया. मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट सरकार बनाएगी.

डिजाइन फोटो.


आपको बता दें कि इनमें से एमपी, छग और राजस्थान तीनों जगह भाजपा की सरकार थी. तेलंगाना में तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) है. मिजोरम में कांग्रेस पार्टी सत्ता में थी.
मध्य प्रदेश में 230, छत्तीसगढ़ में 90, राजस्थान में 200, तेलंगाना में 119 और मिजोरम में 40 सीटें हैं.

जीत के प्रति आश्वस्त हैं कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह

एमपी और छत्तीसगढ़ में पिछले 15 सालों से भाजपा की सरकार है. राजस्थान में भाजपा सरकार को पांच साल हुए हैं. तेलंगाना में केसी राव कार्यवाहक सीएम हैं.

तेलंगाना की अपडेट

LIVE रूझान (दोपहर तीन बजे तक)

तेलंगाना (119 सीटें)
  • टीआरएस- 91 सीटों पर आगे
  • कांग्रेस गठबंधन-18 सीटों पर बढ़त
  • बीजेपी और अन्य- 10 सीटों पर आगे
मिजोरम (40 सीटें)
  • कांग्रेस-06 सीट पर आगे.
  • मिजो नेशनल फ्रंट-(MNF) 29 सीटों पर आगे.
  • बीजेपी व अन्य- 10 सीटों पर आगे.
मध्यप्रदेश (230 सीटें)
  • कांग्रेस+ 110 सीटों पर बढ़त
  • भाजपा- 111 सीटों पर आगे
  • अन्य- 09 सीटों पर बढ़त
छत्तीसगढ़ (90 सीटें)
  • कांग्रेस- 61 सीटों पर बढ़त
  • भाजपा- 20 सीटों पर आगे
  • अन्य- 9 सीटों पर आगे
राजस्थान (199 सीटें)
  • कांग्रेस+ : सचिन पायलट, अशोक गहलोत आगे. पार्टी 96 सीटों पर आगे.
  • भाजपा- वसुंधरा राजे आगे. पार्टी 79 सीटों पर आगे.
  • अन्य- 24 सीटों पर बढ़त

तेलंगाना और मिजोरम विधानसभा चुनाव के परिणाम के लिए यहां क्लिक करें

मध्यप्रदेश चुनाव रिजल्ट 2018 के लिए क्लिक करें

छत्तीसगढ़ चुनाव रिजल्ट 2018 के लिए क्लिक करें

राजस्थान चुनाव रिजल्ट के लिए क्लिक करें

मुख्य झलकियां : (शाम चार बजे तक)

  • तेलंगाना : TRS के पक्ष में 47 फीसदी वोटिंग, बीजेपी को 7 प्रतिशत
  • मिजोरम: MNF के पक्ष में 37.6 फीसदी मतदान, कांग्रेस को 30.2 प्रतिशत
  • छत्तीसगढ़: कांग्रेस के पक्ष में 42.8 फीसदी वोटिंग, बीजेपी को 32.8 प्रतिशत
  • मध्यप्रदेश: बीजेपी-कांग्रेस को 41.4 प्रतिशत वोट
  • राजस्थान: कांग्रेस को 39.2 फीसदी मत, बीजेपी को 38.7 प्रतिशत
राजस्थान
  • कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने टोंक विधानसभा सीट पर 54179 मतों से जीत दर्ज की.
  • पायलट ने कदृावर मंत्री रहे युनुस खान को हराया. दो बार सांसद रहे पायलट का यह पहला विधानसभा चुनाव है.
  • वसुंधरा राजे सरकार के जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप हनुमानगढ सीट पर 15522 मतों से हारे. कांग्रेस के विनोद कुमार विजयी
  • अशोक गहलोत बोले- कांग्रेस को मिलेगा पूर्ण बहुमत, मुख्यमंत्री का फैसला राहुल करेंगे.
  • गहलोत ने कहा 'हम चाहेंगे कि निर्दलीय और अन्य दलों (भाजपा के अलावा) के जो विधायक सरकार का सहयोग करना चाहते हैं तो उनका सहयोग लेना चाहिए. लोकतंत्र कहता है कि सबको मिलाकर चलो.’
  • गहलोत ने कहा कि विधानसभा चुनावों के ये परिणाम अगले साल होने जा रहे लोकसभा चुनाव को लेकर भी संकेत हैं.
मध्य प्रदेश
  • सूत्रों के मुताबिक मध्यप्रदेश में मतगणना के रुझानों को देखते हुए कांग्रेस ने प्रदेश में सरकार बनाने के लिये संभावित सहयोगियों की तलाश है.
  • कांग्रेस नेताओं ने मतगणना में बढ़त बनाये हुए निर्दलीय उम्मीदवारों के साथ ही बहुजन समाज पार्टी (बसपा), समाजवादी पार्टी (सपा) और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी (जीजीपी) के नेताओं से संपर्क किया है.
  • प्रदेश कांग्रेस के एक सूत्र के अनुसार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रदेश में सरकार बनाने के लिये संभावित सहयोगियों से संपर्क किया है.
  • सूत्र के अनुसार कमलनाथ, बसपा प्रमुख मायावती, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और जीजीपी के नेताओं से संपर्क में हैं.
  • मध्यप्रदेश सरकार के 12 मंत्री पिछड़े, नेता प्रतिपक्ष कांग्रेस के अजय सिंह भी पिछड़े.
  • सांसद अनूप मिश्रा भितरवार सीट से 2,255 मतों से पीछे चल रहे हैं. अनूप पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के भतीजे हैं.
छत्तीसगढ़
  • छत्तीसगढ़ में 61 सीटों पर कांग्रेस आगे. रमन का सत्ता जाना लगभग तय.
  • अजित जोगी मरवाही सीट से जीते
  • राजनांदगांव सीट से मुख्यमंत्री रमन सिंह 12 हजार सीटों से आगे.
कांग्रेस के ये प्रत्याशी काफी आगे:
  • अंबिकापुर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव
  • दुर्ग ग्रामीण सीट से कांग्रेस प्रत्याशी सांसद ताम्रध्वज साहू
  • पाटन सीट से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल आगे
भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों पर एक नजर (पीछे)
  • नारायणपुर सीट से मंत्री केदार कश्यप
  • बीजापुर सीट से महेश गागड़ा
  • बिलासपुर सीट से अमर अग्रवाल
  • प्रतापपुर सीट से रामसेवक पैकरा
  • नवागढ़ सीट से दयालदास बघेल
  • रायपुर नगर पश्चिम सीट से राजेश मूणत
  • भिलाई नगर सीट से प्रेम प्रकाश पांडेय
  • कसडोल सीट से विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल भी पीछे.
  • बिल्हा सीट से भाजपा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक आगे
  • कोटा सीट से अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी आगे.



जीत के प्रति आश्वस्त हैं कांग्रेस नेता

2019 का सेमीफाइनल है विधानसभा चुनाव
ये चुनाव परिणाम काफी खास हैं. इसके पीछे की मुख्य वजह है अगले साल होने वाला लोकसभा चुनाव. 2019 के अप्रैल-मई महीने में चुनाव होने की संभावना है.

विपक्ष ने लगाया दम
विपक्षी पार्टियां पूरा दमखम लगा रही हैं कि एनडीए को सत्ता से हटाया जाए. यदि कल के चुनाव परिणाम सकारात्मक आए, तो विपक्षी पार्टियों के बीच चली आ रही खींचतान शायद कुछ कम हो सकती है.


जश्न मनाते कांग्रेस कार्यकर्ता
इन पार्टियों का कहना है कि पीएम पद को लेकर कोई चर्चा न हो. एक बार हमलोग सफलता (मोदी को सत्ता से बेदखल कर लें) हासिल कर लें, उसके बाद मिल-बैठकर फैसला कर लेंगे कि कौन पीएम बनेगा.
तेलगु देशम पार्टी के नेता चंद्रबाबू नायडू विपक्षी पार्टियों के लिए सूत्रधार का काम कर रहे हैं. उन्होंने कांग्रेस के साथ चली आ रही 'राजनीतिक रंजिश' को खत्म करने का ऐलान कर दिया. ये अलग बात है कि कांग्रेस के खिलाफ आंदोलन चलाकर ही उनकी पार्टी का जन्म हुआ था. नायडू ने पीएम मोदी पर आंध्रप्रदेश के हितों की अनदेखी का आरोप लगाया है.

चुनाव परिणाम पर कांग्रेस का जश्न और टॉम वडक्कन की प्रतिक्रिया

जहां तक कांग्रेस पार्टी का सवाल है तो उसके नेता राहुल गांधी हैं, इस बात पर किसी को कोई कन्फ्यूजन नहीं है. लेकिन बतौर गठबंधन उनका नेतृत्व स्वीकार होगा या नहीं, इसे लेकर पार्टी कुछ नहीं कहना चाह रही है.
दरअसल, पार्टी चाहती है कि राहुल का नाम आगे करने से गठबंधन के कई सहयोगियों को आपत्ति हो सकती है. लिहाजा, पार्टी इस सवाल को तात्कालिक रूप से टाल रही है.

कांग्रेस नेता डॉ अजय की प्रतिक्रिया

कुछ विश्लेषक ये जरूर मानते हैं कि राहुल को लोकप्रियता मोदी और उनके सहयोगियों ने ही दिलाई है. वे बार-बार राहुल गांधी पर व्यक्तिगत हमले करते रहे और राहुल की लोकप्रियता दिन प्रतिदिन बढ़ती गई.


कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी से बातचीत

बाकी अन्य पार्टियां, जैसे सपा, बसपा, सीपीआई, सीपीएम, जेडीएस, डीएमके और अन्य धर्मनिरपेक्षता को आधार बनाकर गठबंधन को सहयोग देने के लिए तैयार हैं. हालांकि, बसपा को लेकर कांग्रेस आश्वस्त नहीं है.

कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह से बातचीत
इन सबके बीच सवाल ये भी है कि क्या इन राज्यों में भाजपा का प्रदर्शन अच्छा नहीं होता है, तो क्या मोदी फैक्टर खत्म हो जाएगा. क्या मोदी की लोकप्रियता घट जाएगी. क्या लोकसभा चुनाव आजे के परिणाम की ही प्रतिमूर्ति होगी. ऐसा पूरी निश्चिंतता के साथ तो नहीं कहा जा सकता है.

कांग्रेस नेता शकील अहमद की प्रतिक्रिया

मोदी का जादू खत्म
कांग्रेस की जीत पक्की लगने के सवाल पर कांग्रेस नेता शकील अहमद ने प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि यह राहुल का नेतृत्व है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सॉफ्ट हिंदुत्व काम कर गया. कोई भी पार्टी 70-80 प्रतिशत हिंदुओं को अनदेखा नहीं कर सकती है. उन्होंने कहा कि मोदी का जादू खत्म हो गया है.

राहुल गांधी को तोहफा
अहमद ने आगे कहा कि यह जीत राहुल गांधी को अध्यक्ष के रूप में एक तोहफा है. 11 दिसंबर 2017 को राहुल ने कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला था. लोगों ने उनकी क्षमता पर सवाल उठाया था लेकिन यह उनके लिए एक बड़ा तोहफा है.
नवजोत सिद्धू ने शुरुआती चुनाव परिणाम आने के बाद बीजेपी पर तंज कसा. उन्होंने कहा 'ये बीजेपी की हार है. पार्टी की हालत GTU है, इसका विस्तार करते हुए सिद्धू ने कहा G-गिरे, तो भी, T-टांग, U-ऊपर जैसी है.



माना जा रहा है कि इस परिणाम के बाद विपक्षी पार्टियों को संजीवनी मिल जाएगी, वे पूरी ताकत से मोदी का विरोध कर सकेंगे. मोदी की नीतियों पर तीखा हमला कर सकते हैं. उन्हें एक गति मिल जाएगी, ये अलग बात है कि वो सफल होगा या नहीं, कुछ भी नहीं कहा जा सकता है



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES