• A
  • A
  • A
गहलोत के शपथ ग्रहण के बाद मंत्रिमंडल में भरतपुर की इस विधायक को जगह मिलने की चर्चा

भरतपुर. कांग्रेस सरकार बनते ही लोगों के बीच एक चर्चा जोरों पर है कि आखिर सरकार में मंत्री कौन-कौन होगा. मंत्री पद की रेस में जिले की कद्दावर नेता और मेव समाज से आने वाली जाहिदा खान नंबर एक पर हैं. कायास लगाए जा रहे हैं कि गहलोत सरकार में जाहिदा मंत्री पद पा सकती हैं.

शपथ लेते गहलोत-सचिन


बता दें जाहिदा खांन के दादा चौधरी यासीन खान, महात्मा गांधी के करीबी रहे थे. पूरे भारत की मेव समुदाय की 36 विराजदरियों ने अपना चौधरी बनाया था. यासीन के गुजर जाने के बाद से पूरे समुदाय ने चौधरी का खिताब जाहिदा के पिता चौधरी तय्यब हुसैन को सौंपा. चौधरी तय्यब हुसैन 1962 में सिर्फ 26 साल की उम्र में आज के हरियाणा के गांव पंचायत रहना के सरपंच चुने गए. उसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री प्रताप सिंह कैरों की सरकार में चौधरी तय्यब हुसैन बिना विधानसभा सीधे मन्त्री बने, बाद में विधानसभा का चुनाव लड़े. वे तीन राज्यों में कैबिनेट मिनिस्टर भी रह चुके हैं.
यह भी पढ़ें-राजस्थान राज्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष मेड़तिया ने निभाया अपना वादा...गहलोत के शपथ लेते ही...गरीबों में बांटे 5 लाख रुपए

एक टीवी चैनल के शो में उनके उपर प्रश्न भी पूछा गया था कि ऐसा कौन व्यक्ति है जो तीन राज्यों के कैबिनेट मिनिस्टर रहा था. जिसका सही उत्तर चौधरी तय्यब हुसैन था. जाहिदा खांन के परिवार का कई पीढ़ियों से राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के मेव समुदाय में दबदबा रहा है. मेव समुदाय कई राज्यों की लोकसभा सीटों पर निर्णायक वोटर है. जाहिदा खान ने लां करने के बाद कामां पंचायत समिति की प्रधान चुनी गईं और अब भारी वोटों से जीत कर दूसरी बार राजस्थान विधानसभा चुनकर आयी हैं. इससे पहले भी वो कांग्रेस की सरकार में संसदीय सचिव रह चुकी हैं. जाहिदा खांन के मन्त्री बनने पर कांग्रेस में मेव समुदाय का नेतृत्व करने के लिए जाहिदा खांन से बड़ा चेहरा नहीं है.


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES