• A
  • A
  • A
हाथी ने यहां बिगाड़ दिया कांग्रेस के जीत का खेल और भाजपा ने मार ली बाजी

जालोर. विधानसभा चुनावों में इस बार मायावती के हाथी ने जालोर जिले में कांग्रेस के जीत का गणित ही बिगाड़ कर रख दिया. जिसके कारण कांग्रेस को जिले को 5 में से 1 ही सीट पर जीत मिली. तो, वहीं भाजपा का 4 सीटों पर अपना दबदबा कायम रहा.

डिजाइन फोटो.


जिले के पांच विधानसभा में से चार विधानसभाओं में इस बार बसपा ने प्रत्याशी मैदान में उतारे थे. जिसमें चारों में से 1 सांचोर की सीट पर कांग्रेस विजयी हुई. लेकिन, बाकी चारों सीट भाजपा के खाते में गई. इस बार मायावती ने चारों विधानसभा पर अपने प्रत्याशी उतार कर जालोर जिले की राजनीति में कांग्रेस को तगड़ा झटका दिया. इन उम्मीदवारों के कारण कांग्रेस को जिले में जबरदस्त नुकसान हुआ.
यह भी पढ़ें-RAS MAINS EXAM 2018 : तारीख बढ़ी, अब 28 और 29 जनवरी को होगी परीक्षा

बसपा ने आहोर में पंकज मीणा को उतारा था. उसके समर्थन में बसपा सुप्रीमों मायावती ने सभा को भी संबोधित किया था. जिसके कारण कांग्रेस का एससी-एसटी का वोट बैंक खिसक कर बसपा के साथ चला गया. जिसके कारण आहोर में कांग्रेस के सवाराम पटेल को करारी हार का सामना करना पड़ा. इसके अलावा भीनमाल और रानीवाड़ा में भी दोनों उम्मीदवारों ने कांग्रेस के वोटों में सेंध लगाई. लेकिन, ज्यादा नुकसान नहीं कर सके.

यह भी पढ़ें-मध्य-प्रदेश में कमलनाथ ने CM बनते ही किसानों का कर्जा किया माफ...यहां गहलोत पीछे हटते दिख रहे हैं

वहीं सांचोर विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी सुखराम के राह का रोड़ा बने बसपा प्रत्याशी रमेश कुमार ने 22 हजार से ज्यादा वोट लिए. लेकिन, भाजपा के बागी जीवाराम चौधरी और भाजपा प्रत्याशी दानाराम के खड़े होने के कारण सुखराम बिश्नोई आसानी से जीत गए.
कितने कितने वोट मिले बसपा के चारों प्रत्याशियों को
जालोर जिले में विधानसभा चुनाव के अंतर्गत चार स्थानों पर बसपा के प्रत्याशी मैदान में थे. जिसमें आहोर से पंकज मीणा ने 22808, सांचौर 22496, भीनमाल कृणकुमार 6434 व रानीवाड़ा में 2675 वोट मिले.



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES