• A
  • A
  • A
विधानसभा चुनाव की दीवार क्या कहती है...कांग्रेस को 12 लोकसभा सीटें तो भाजपा को 13...कौन-कौन सी तो पढ़िये

जयपुर. राजस्थान में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जीत दर्ज कर सरकार बना लिया. अब चर्चाएं जो हैं वो लोकसभा चुनाव को लेकर शुरू हो गई हैं. ऐसे में अगर आज लोकसभा चुनाव हो जाते हैं. तो कांग्रेस और बीजेपी बिना किसी अन्य पार्टी के गठबंधन के कितनी सीटें लाएंगी. इस को जान लेते हैं. साथ ही उन सीटों को भी देख लेते हैं जिस पर कमल खिल सकता है या जो हाथ के साथ जा सकती है.

डिजाइन फोटो.


मौजूदा विधानसभा चुनाव में पड़े वोट का आंकलन किया जाए तो कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव से पहले ही प्रदेश की 25 में से12 सीटों पर कब्जा जमा लिया है. वहीं 13 सीटों पर अब भी भाजपा को बढ़त है. यह बढ़त विधानसभा चुनाव में संबंधित लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली विधानसभा सीटों पर मिले कांग्रेस और भाजपा को वोट के आधार पर बनी है.
हालांकि लोकसभा चुनाव में भी करीब 5 महीने का समय बाकी है लेकिन अब प्रदेश में भाजपा नहीं बल्कि कांग्रेस की सरकार है. लिहाजा इसका सियासी फायदा भी कांग्रेस को ही लोकसभा चुनाव में मिलना तय है. हर लोकसभा में आने वाले विधानसभा सीटों पर भाजपा-कांग्रेस को मिले वोटों की संख्या के आधार पर जयपुर शहर जहां इस बार भाजपा को भारी नुकसान हुआ है. वहां तुलनात्मक रूप से कुल वोट भाजपा को ही ज्यादा पड़े हैं. जयपुर शहर लोकसभा सीट पर आने वाली विधानसभा सीट पर हुए कुल मतदान में भाजपा को 14,315 वोट अधिक मिले.
पढ़ें: घोषणा तो कर दी...गहलोत अब उलझे हुए हैं....उधर राहुल भी राह देख रहे हैं
इन 12 संसदीय सीटों पर कांग्रेस को मिली बढ़त
टोंक-सवाईमाधोपुर
पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यह सीट जीते. लेकिन मौजूदा विधानसभा चुनाव में इस संसदीय सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर भाजपा को 4,79,346 और कांग्रेस को 6,62,015 मत मिले हैं. मतलब कांग्रेस को इस सीट पर 1,82,669 वोटों की बढ़त है.
सीकर
संसदीय सीट पर वर्तमान में भाजपा के सांसद हैं लेकिन विधानसभा चुनाव में इस संसदीय सीट के तहत आने वाली विधानसभा की सीटों पर कांग्रेस को 85,020 वोटों की बढ़त मिली है.
नागौर
वर्तमान में इस सीट पर भाजपा के सांसद हैं. लेकिन इस संसदीय सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर इस चुनाव में हुए मतदान में कांग्रेस को 1,31647 वोट की बढ़त मिली.
पढ़ें: गहलोत ने आते ही वसुंधरा के सभी खास बाबुओं को 'लगाया बरफ में'
जोधपुर
वर्तमान में लोकसभा सीट पर भाजपा का कब्जा है लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में इस संसदीय क्षेत्र में पड़ने वाली विधानसभा सीटों पर पड़े कुल वोटों के आधार पर कांग्रेस को यहां 1,12,247 वोटों की बढ़त मिली है.
झुंझुनूं
वर्तमान में झुंझुनूं लोकसभा सीट पर भाजपा का कब्जा है लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस को 1,00,555 वोटों की बढ़त मिली है.
करौली-धौलपुर
वर्तमान में इस संसदीय सीट पर भाजपा का कब्जा है लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान इस लोकसभा सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर पड़े कुल वोटों के आधार पर यहां कांग्रेस को 1,51,639 वोटों की बढ़त मिली है.
पढ़ें: गहलोत मंत्रिपरिषद में ब्राह्मण कोटाः एक से एक दिग्गज हैं कतार में...किसें लें...किसें छोड़ें...यही दिक्कत रहेगी CM के आगे
जयपुर ग्रामीण
जयपुर ग्रामीण संसदीय सीट पर वर्तमान में भाजपा का कब्जा है. यहां से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ केंद्र में मंत्री भी हैं. लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में इस सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर पड़े कुल वोटों के आधार पर यहां कांग्रेस को 1,12,161 वोटों की बढ़त मिली है.
भरतपुर
इस सीट पर भी वर्तमान में भाजपा का ही कब्जा है लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान हुए मतदान में यहां कांग्रेस को 87,681 वोटों की बढ़त मिली है.
बाड़मेर-जैसलमेर
वर्तमान में इस संसदीय सीट पर भाजपा का कब्जा है लेकिन विधानसभा चुनाव में यहां कांग्रेस को बड़ी बढ़त मिली है. कांग्रेस विधानसभा चुनाव में इस सीट पर 1,23,954 वोटों से आगे रही.

पढ़ें: राजस्थान में सरकार किसी की भी हो... रामगंजमंडी में तो भाजपा की ही है- दिलावर
बीकानेर
बीकानेर संसदीय सीट पर भाजपा का कब्जा है लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा के चुनाव के दौरान इस संसदीय क्षेत्र में आने वाली विधानसभा सीटों पर भाजपा कमजोर हुई. यहां कांग्रेस 6,101 वोटों से आगे रही.
दौसा
दौसा संसदीय क्षेत्र की सीट पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा का कब्जा रहा था लेकिन इस विधानसभा चुनाव के दौरान इस संसदीय क्षेत्र में आने वाली विधानसभा सीटों पर हुए कुल मतदान के आधार पर कांग्रेस 55,514 वोटों से आगे रही.
चूरू
इस सीट पर भी कांग्रेस को बढ़त मिली है.


पढ़ें: राजस्थान के इस विधायक ने चुनाव जीतते ही पहले सब्जी बेची फिर जूते पॉलिश किए-देखें VIDEO
इन 13 लोकसभा सीटों पर भाजपा को मिली बढ़त
उदयपुर
पिछले लोकसभा चुनाव में यह सीट भाजपा के खाते में गई. वर्तमान में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी यहां भाजपा की बढ़त कायम रही. इस चुनाव में भाजपा को 29,353 वोट अधिक मिले.
राजसमंद
इस सीट पर पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा का कब्जा रहा था और हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी यह बढ़त कायम रही. इस संसदीय सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर भाजपा 8,560 मतों से आगे रही.
कोटा-बूंदी
भाजपा पिछले विधानसभा चुनाव में इस लोकसभा सीट पर जीती थी और अब हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी भाजपा की यह बढ़त कायम रही.

पाली
पिछले लोकसभा चुनाव में इस सीट पर भाजपा का कब्जा रहा और वह बढ़त इस विधानसभा चुनाव में भी कायम रहे. मौजूदा विधानसभा चुनाव में पाली संसदीय क्षेत्र में आने वाली विधानसभा सीटों पर भाजपा को कुल 1,08,657 वोटों की बढ़त मिली.
पढ़ें: भाजपा से बागी बनकर विधायक बने हुड़ला ने सीएम गहलोत से की मुलाकात
जालोर-सिरोही
यह सीट परंपरागत रूप से भाजपा के पास ही थी. पिछले लोकसभा चुनाव में भी इस संसदीय क्षेत्र पर भाजपा का कब्जा रहा लेकिन इस विधानसभा चुनाव में इस संसदीय क्षेत्र में आने वाली विधानसभा सीटों पर हुए मतदान के दौरान भाजपा को 38,630 वोटों से बढ़त रही.
झालावाड़-बारां
यह लोकसभा सीट भाजपा के कब्जे में है और इस विधानसभा चुनाव में भी भाजपा की यह बढ़त कायम रही. इस विधानसभा चुनाव में भी भाजपा को यह आने वाली विधानसभा सीटों पर कुल 21,923 वोटों की बढ़त मिली.
जयपुर
यह सीट परम्परागत रूप से भाजपा की है लेकिन इस सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर भाजपा को इस विधानसभा चुनाव में नुकसान हुआ लेकिन यह पड़े कुल वोट के आधार पर भाजपा को अब भी इस सीट पर 14,315 वोटों की बढ़त मिली.
पढ़ें: गहलोत सरकार में बनने वाले मंत्रियों को लेकर डिप्टी सीएम पायलट ने दिया ये बड़ा बयान
बांसवाड़ा
बांसवाड़ा लोकसभा सीट पर वर्तमान में भाजपा का कब्जा है और इस विधानसभा चुनाव में भी भाजपा को यहां बढ़त मिली है. भाजपा को यहां विधानसभा चुनाव में 63,912 वोटों की बढ़त मिली.

अलवर
उपचुनाव में अलवर लोकसभा सीट भाजपा के हाथ से फिसल गई लेकिन वर्तमान में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान अलवर लोकसभा सीट के तहत आने वाली विधानसभा सीटों पर भाजपा को 14,186 वोटों की बढ़त रही.
भीलवाड़ा
लोकसभा सीट भी परंपरागत रूप से भाजपा के कब्जे में ही रही थी लेकिन वर्तमान विधानसभा चुनाव के दौरान यहां पड़े कुल वोट के आधार पर भी भाजपा ही बढ़त में रही.
पढ़ें: IPL-12 में राजस्थान रॉयल्स ने इस खिलाड़ी को 8 करोड़ से ज्यादा में खरीदा...जबकि इन दिग्गजों को फिर नहीं मिला खरीददार
चित्तौड़गढ़
यहां सीट परंपरागत रूप से भाजपा के ही कब्जे में रही और पिछले लोकसभा चुनाव में यहां से भाजपा विजय रही. वर्तमान विधानसभा चुनाव में इस सीट पर भाजपा की बढ़त कायम रही और भाजपा को 16,796 मतों की बढ़त मिली.
अजमेर
भाजपा को इस संसदीय सीट पर उपचुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा था. हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान इस क्षेत्र में आने वाली कुल विधानसभा सीटों पर भाजपा को 25,308 वोटों की बढ़त मिली.
गंगानगर
भाजपा को पिछले लोकसभा चुनाव में इस संसदीय सीट पर विजय हासिल हुई थी. वर्तमान में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान इस लोकसभा सीट पर आने वाले विधानसभा सीटों पर भी भाजपा की बढ़त कायम रही. भाजपा यहां 1,574 वोटों से बढ़त बनाए हुए हैं.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES