• A
  • A
  • A
जस्टिस रंजन गगोई पर एक बार फिर टिकी निगाहें

लखनऊ। चीफ जस्टिस आफ इंडिया की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाकर देश की न्याय व्यवस्था में भूचाल लाने वाले सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रंजन गगोई आज लखनऊ पहुंचे। रंजन गगोई बतौर मुख्‍य अतिथि प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा कोर्ट में लंबित मामलों को मध्यस्तता के माध्‍यम से जल्‍द निस्‍तारित किए जाने संबंधी आयोजित एक दिवसीय संगोष्ठी में भाग ले रहे है।

जस्टिस रंजन गगोई (फाइल फोटो)


यूपी और मध्‍य प्रदेश मध्‍य जोन की इस संगोष्‍ठी में भाग लेने के लिए जस्टिस रंजन गगोई के साथ उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के भी न्यायधीश पहुंचे हैं। उच्च न्यायालय के सभागार में आयोजित हो रही इस संगोष्ठी पर देश की निगाहे लगी है। इस संगोष्‍ठी के दौरान कुछ अहम मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।


'फूलपुर का उपचुनाव लड़ेंगी मायावती, लेकिन बीएसपी के सिंबल पर नहीं'

इस संगोष्‍ठी में यूपी और मध्‍य प्रदेश के न्‍यायविद न्याय देने की प्रक्रिया को कैसे त्वरित व सुगम बनाया जाए और देश की विभिन्न अदालतों में लंबित मामलों का निस्तारण किस प्रकार हो, इस पर खासतौर पर चर्चा करेंगे।
इसमें न्यायाधीशों के साथ निचली अदालतों के जज, सीनियर ए़डवोकेट व विभिन्न न्यायिक प्राधिकरणों के चेयरमैन आदि शामिल हो रहे हैं।

फर्जी डिग्री के सहारे बने शिक्षक पर केस, 12 की नियुक्‍तियां कैंसल
बता दें कि 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्‍ठ जजों ने देश के मुख्य न्यायाधीश पर तमाम आरोप लगाए और उनको 7 पेज का पत्र लिखा। इसके बाद मीडिया के सामने आए, जिसके बाद देश की अंतिम न्याय व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए। इसके बाद से ही सभी की निगाहे सुप्रीम कोर्ट के इन 4 न्यायाधीशों पर टिक गई है।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES