• A
  • A
  • A
आरिज़ ख़ान उर्फ़ जुनैद, उम्र- 32 साल, पेशा- कभी इंजीनियर था, अब देश का 'गुनहगार'

जयपुर/नई दिल्ली। साल 2008 के सितंबर में दिल्ली के पहाड़गंज, कनॉट प्लेस, ग्रेटर कैलाश और बाराखम्बा में सीरियल ब्लास्ट, बाटला एनकाउंटर, अहमदाबाद बम धमाका, जयपुर में सिलसिलेवार बम धमाकों समेत इंडियन मुजाहिदीन के इस आतंकि के गुनाहों की लिस्ट लम्बी है।

पुलिस की गिरफ्त में आतंकी जुनैद उर्फ आरिज़।


दिल्ली बम धमाकों में 26, मई में जयपुर बम धमाकों में 70, जुलाई में गुजरात के अहमदाबाद में 56 समेत न जाने कितने सीरीयल ब्लास्ट में सैंकड़ों लोगों की जानें गई। दिल्ली पुलिस ने इन सब धमाकों में भूमिका के चलते इंडियन मुजाहिदीन से जुड़े चरमपंथी आरिज़ ख़ान उर्फ जुनैद को गिरफ़्तार करने का दावा किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जुनैद को नेपाल से पकड़ा गया है। हालांकि इस बाबत अधिकारिक पुष्टि अभी नहीं हुई है।


पढ़ेंःशर्मनाक! वेलेंटाइन-डे के दिन जयपुर में महिला पर एसिड अटैक

जुनैद का संबंध उत्तरप्रदेश के आजमगढ़ जिले से है। जो पेशे से कभी इंजीनियर था। लेकिन प्रतिबंधित इस्लामिक संगठन इंडियन मुजाहिदीन से जुड़ने के बाद जुनैद ने एक के बाद एक गुनाह किए। जुनैद की तलाश दिल्ली पुलिस बाटला हाउस एनकाउंटर के बाद कर रही थी।

पढ़ेंः राजेन्द्र राठौड़ बोले-कहां गए सारे कांग्रेसी, शकुंतला रावत ने जवाब में कहा-एक शेरनी ही काफी है...

क्या है बाटला हाउस एनकाउंटर?
बाटला हाउस एनकाउंटर जो दिल्ली पुलिस का आधिकारिक तौर पर ऑपरेशन बाटला हाउस था। 19 सितंबर, 2008 को दिल्ली के जामिया नगर इलाके में इंडियन मुजाहिदीन के संदिग्ध आतंकवादियों के खिलाफ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी। जिसमें 2 संदिग्ध आतंकवादी आतिफ अमीन और मोहम्मद साजिद मारे गए थे। 2 अन्य संदिग्ध सैफ मोहम्मद और आरिज़ खान भागने में कामयाब हो गए। जबकि 1 और आरोपी ज़ीशान को गिरफ्तार कर लिया गया। इस एनकाउंटर केस में दिल्ली पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की मौत हो गई थी।

जुनैद के सिर पर NIA ने 10 लाख और इसी तरह दिल्ली पुलिस ने उसके सिर पर 5 लाख का इनाम घोषित कर रखा था। फिलहाल एनआईए की टीम और अन्य जांच एजेंसियां लगातार उससे पूछताछ कर रही हैं।

पढ़ेंः जयपुर ब्लास्ट का मास्टरमाइंड इंडियन मुजाहिदीन का आतंकी आरिज 'जुनैद' गिरफ्तार

जयपुर कनेक्शन
13 मई 2008 को राजधानी जयपुर में आठ स्थानों पर सिलसिलेवार 8 बम विस्फोट हुए थे। एक जिंदा बम हनुमान मंदिर के पास से बरामद किया गया था। घटना में 70 लोगों की मौत हो गई थी और 186 लोग घायल हुए थे। मामले में प्रकरण में शाहबाज हुसैन, सरवर, सलमान, सैफ और सैफुर्रहमान को गिरफ्तार किया जा चुका था। वहीं इस मामले में फरार आरिज, शादाब, साजिद बडा और मोहम्मद खालिद फरार की तलाश की जा रही थी। इनमें आतिफ और छोटा साजिद 19 सितंबर 2008 को पुलिस मुटभेड़ में बाटला हाऊस में मारे जा चुके हैं। आरिज को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES