• A
  • A
  • A
बालोद: मुश्किल में किसान, लापरवाही की भेंट चढ़ रहा शक्कर कारखाना

बालोद: जिले का एक मात्र उद्योग मां दंतेश्वरी मैया सहकारी शक्कर कारखाना प्रबंधन की लापरवाही का भेंट चढ़ता हुआ दिख रहा है. कारखाने को प्रबंधन ने पहले 30 दिसंबर को, फिर बाद में 6 जनवरी को चालू करने का दावा किया था. लेकिन करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी प्रबंधन मशीनों और बॉयलरों को ठीक नहीं करवा पाया है.

वीडियो.


मशीनों में खराबी की वजह से अब तक पेराई का काम शुरू नहीं हो पाया है. दूरदराज से आए किसानों की गन्ने से भरी गाड़ियां 3 दिन बाद खाली हो पाई हैं, जिससे किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. पिछले साल 26 दिसंबर के आस-पास कारखाना शुरू हो गया था लेकिन इस बार अब तक कारखाना चालू नहीं हुआ है.
पढ़ें-SPECIAL: बीजेपी की हार, नई सरकार और अफसरशाही पर क्या बोले पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर
प्रबंधन ने इस बार में एक लाख क्विंटल गन्ने की पेराई का दावा किया था लेकिन कारखानों की हालत कुछ और ही बयां कर रही है. बता दें कि मां दन्तेश्वरी मैया सहकारी शक्कर कारखाना में करोड़ों रुपए मेंटेनेंस के नाम पर खर्च करने के बाद भी कारखाना चालू नहीं होने के कारण किसान अब गन्ना लगाने के लिए मना कर रहे हैं.

5 जनवरी को कारखाने के उद्घाटन के लिए बालोद कलेक्टर किरण कौशल के हाथों कारखाना प्रबंधन ने पूजा-अर्चना करवाई थी लेकिन अब तक कारखाना चालू नहीं हो पाया है. एक तरफ जहां कारखाने के बाहर गन्ने से भरी गाड़ियों की कतारें लगी हुई है वहीं दूसरी ओर गाड़ी खाली नहीं होने से किसान परेशान नजर आ रहे हैं.

पढ़ें-जगदलपुर: राज्य सरकार को हो सकता है बड़ा नुकसान, इस तरह धान खपाने में लगे बिचौलिए
मामले की जानकारी मिलते ही पूर्व विधायक भय्या राम सिन्हा भी मौके पर पहुंचे और किसानों की समस्या को देखते हुए प्रबंधन को फटकार लगाई है साथ ही गन्ने की गाड़ियों को जल्द ही खाली करवाने के निर्देश दिए है. मामले में फोन पर सहकारिता मंत्री से भी चर्चा की गई है. मशीन चालू नहीं होने की वजह से किसानों को अपने हाथों से ही गन्ना खाली करना पड़ा वहीं दूसरी तरफ किराए की गाड़ी होने के कारण 3 दिन तक गाड़ी खाली नहीं होने से किसानों को काफी घाटा होगा.



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES