• A
  • A
  • A
बिलासपुर में टीले में तब्दील हुआ पहाड़, जांच में जुटी प्रशासन की टीम

बिलासपुर: खनन माफियाओं की ओर से जिले में पड़ाड को काटकर खनिज बेचने का मामला सामने आया है. प्रशासन ने मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच शुरू कर दी है.

वीडियो.


मामले में पंचायत प्रतिनिधि का कहना है कि 'सड़क निर्माण करने वाली कंपनी की ओर से पहाड़ का अवैध उत्खनन किया गया है. पूरा मामला मरवाही ब्लॉक के सेमरदर्री गांव का है. जहां मुख्यमार्ग पर स्थित बंगला पहाड़ पर खनन माफियाओं ने मशीनों से मुरूम और पत्थर का धड़ल्ले से अवैध उत्खनन किया है. प्रशासन को न इसकी
भनक लगी और न ही पंचायत ने इसका विरोध किया.
पहा़ड़ से बनाया सड़कसेमरदर्री के पंचायत प्रतिनिधि का कहना है कि 'सड़क किनारे हाट बाजार और खेल के मैदान के लिए इस जगह को चुनने का प्रस्ताव रखा गया था. इस दौरान सड़क बनाने वाली कंपनी ने भी पहाड़ से अवैध उत्खनन कर यहां से निकलने वाले मुरूम और पत्थर का इस्तेमाल सड़क बनाने में किया. कंपनी के रखूख की वजह से पंचायत किसी
प्रकार की राजस्व की वसूली भी नहीं कर पाई'.

पढ़ें- दुर्ग पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, स्वास्थ्य सुविधाओं पर उठाए सवाल
मामले की जांच शुरू सेमरदर्री गांव में पहाड़ गायब होने की जानकारी मिलते ही मरवाही तहसीलदार नरेंद्र बंजारा ने मौके पर पहुंच मामले की जांच शुरू कर दी है. बंजारे ने इस मामले में खनिज विभाग से पूरी जानकारी ले कर कार्रवाई करने की बात कही.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES