• A
  • A
  • A
ग्वालियर: आये थे घर तोड़ने, उजाड़ गए मां की गोद

ग्वालियर। अतिक्रमण करके बनाए गए मकानों को तोड़ने के लिए शनिवार को 6 नंबर चौराहा मुरार से जड़ेरुआ डैम तक कार्रवाई हुई। जिसमें हाईकोर्ट के आदेश के बाद 115 मकानों को तोड़ा गया। कार्रवाई के दौरान स्थानीय लोगों ने विरोध किया और पथराव कर दिया। वहीं शुक्रवार को क्षेत्र में लाल निशान लगाने गई टीम को देख घबराई महिला भागी और गिर गई। जिससे उसकी गोद में मौजूद तीन माह के बच्चे की मौत हो गई।

डिजाइन फोटो।


शनिवार को नगर निगम की टीम कार्रवाई के लिए पहुंची तो वहां मौजूद कुछ लोगों ने निशान से अधिक दूरी पर तुड़ाई का विरोध कर सड़क और मकानों से ईंट-पत्थर फेंके। अचानक हुए पथराव से निगम और पुलिस मोर्चा संभालते हुए पत्थर फेंकने वालों को दौड़ा कर पीटा। इस दौरान पुलिस ने महिलाओं और बच्चों पर भी लाठीचार्ज किया। पुलिस ने उपद्रव करने के आरोप में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। शाम तक चली कार्रवाई के बाद अब रविवार को भी बाकी अतिक्रमण तोड़े जाएंगे।


पढ़ें: महिला शिक्षकों को गंजा होते देख निकले आंसू, तीन बेहोश

दरअसल, जड़ेरुआ डेम रोड पर मुख्य रास्ते के एक ओर लोगों ने अतिक्रमण करके मकान बना लिए थे, इस अतिक्रमण को हटाने के लिए स्थानीय रहवासी रामनरेश ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर थी। इसके बाद न्यायालय के आदेश पर शनिवार को जिला प्रशासन ने एसडीएम एचबी शर्मा की अगुवाई में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की।

लाठीचार्ज करती पुलिस

एक दिन पहले अस्पताल से हुई थी बच्चे की छुट्टी

शुक्रवार को लाल निशान लगाने की कार्रवाई में जिस बच्चे की मौत हुई है उसका तबीयत खराब होने की वजह से परिजन ने अस्पताल में भर्ती कराया था। बच्चे के पिता गजराज जाटव ने बताया कि वह गुरुवार को ही बच्चे को अस्पताल से घर लाया था और घर आने के बाद उसकी इस कदर दर्दनाक मौत हो गई।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES