• A
  • A
  • A
उज्जैन में क्यों रात नहीं गुजारते थे महाराजा ? ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया खुलासा

भोपाल। बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन की परंपरा है कि, वहां के महाराजा महाकाल ही है। वहां का राजा कोई और नहीं हुआ और न ही कोई महाराजा रात गुजारता है। ये परम्परा कब और कैसे शुरू हुई, इसके बारे में जानकारी दी, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जो शिवपुरी में आयोजित महाशिवरात्रि महोत्सव में शामिल होने पहुंचे थे।


ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि महाराष्ट्र से आने के बाद सिंधिया राजवंश की पहली राजधानी उज्जैन थी, लेकिन सिंधिया परिवार कभी उज्जैन के महाराज नहीं रहे। उज्जैन के महाराजा बाबा महाकाल रहे और आज 14वीं पीढ़ी में ये परम्परा जारी है।


पढ़ें : मप्र उपचुनाव में सिंधिया को 'अभिमन्यु' बनाने की रणनीति!

फीता काटकर पाठशाला का किया शुभारंभ
कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शिवपुरी के विजयपुरम में नवनिर्मित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विवि द्वारा आयोजित आध्यात्मिक गीता ज्ञान पाठशाला के शुभारंभ कार्यक्रम के अवसर पर पहुंचे थे। जहां उन्होंने नवनिर्मित पाठशाला का फीता काटकर शुभारंभ किया और महाशिवरात्रि पर्व की पूजा अर्चना में भी शामिल हुए।

ये भी पढ़ें : अगले तीन साल तक कोई भी चुनाव नहीं लड़ूंगी: उमा भारती

'सिंधिया राजवंश की सबसे पहली राजधानी उज्जैन'
इस अवसर पर सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि, उनका परिवार सिंधिया राजवंश जब महाराष्ट्र से निकला तो सिंधिया राजवंश की सबसे पहली राजधानी उज्जैन में बनी। उज्जैन के महाराजा महाकाल है इसलिए सिंधिया राजवंश ने एक नीति बनाई कि, उज्जैन में केवल एक राजा हो सकता है और वह महाकाल है। इसलिए सिंधिया परिवार का गृह क्षेत्र गृह निवास उज्जैन में कभी नहीं रहा।


'उज्जैन के महाराजा केवल बाबा महाकाल'

उन्होंने बताया कि उज्जैन के बॉर्डर के बाहर रहा और सिंधिया परिवार के मुखिया ने रात्रि विश्राम उज्जैन में कभी नहीं किया। क्योंकि उज्जैन का महाराजा केवल महाकाल है। आज तक वहीं नियम का पालन सदैव होता आ रहा है। मैं आज 14वीं पीढ़ी से हूं और जब मालवा या उज्जैन शहर का मेरा दौरा होता है तो मेरा मैं रात कभी उज्जैन में नहीं रूकता।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES