• A
  • A
  • A
केंद्रीय कारागार में कैदियों की मौत के मामले में हाई कोर्ट सख्त, सुनवाई पूरी, फैसला सुरक्षित

ग्वालियर। केंद्रीय कारागार में चार कैदियों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत मामले में मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में जनहित याचिका दायर का गई थी, जिसकी बुधवार को अंतिम सुनवाई हुई, जिसमें बाद फैसले को सुरक्षित रख लिया है।

हाईकोर्ट ग्वालियर।


दरअसल, एक साल पहले जेल में आदित्य भदौरिया, रवि अग्रवाल सहित चार कैदियों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी। इन मौतों को लेकर अधिवक्ता अवधेश सिंह ने एक जनहित याचिका हाईकोर्ट में दायर की थी जिसमें प्रार्थना की गई थी कि जेल में कैदियों की सुरक्षा का इंतजाम किया जाए। उनके स्वास्थ्य और खानपान की व्यवस्था की जाए।


पढ़ें-वेलेंटाइन-डे: प्रेमी जोड़ों के साथ सरेआम मारपीट, तमाशबीन बनी रही पुलिस, देंखे वीडियो

इस मामले में एडीजे कोर्ट ने बिल्डर आदित्य की मौत को जांच में संदिग्ध पाया था और मृतक के शरीर पर चोटों के निशान पाए गए थे सुनवाई के बाद बुधवार को हाईकोर्ट में अंतिम सुनवाई की गई फैसले को हाईकोर्ट ने सुरक्षित रख लिया है, जिसके जल्द ही आदेशित होने की उम्मीद है।

पढ़ें-चर्च से की गई BJP को वोट ना देने की अपील, केंद्रीय मंत्री अल्फोंस ने दिया ये जवाब

याचिकाकर्ता अधिवक्ता अवधेश तोमर ने बताया कि जेल में कैदियों की मौतें हो रही थी, इस मामले में एक पिटीसन फाइल की थी सुनवाई के बाद फैसले को रिजर्व कर लिया हैं। हमने अपनी याचिका में कैदियों के स्वास्थ्य खान पान और सुरक्षा को लेकर जनहित याचिका लगाई थी।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES