• A
  • A
  • A
गरबा कार्यक्रम में डीजे बजाने का मामला: HC ने कलेक्टर को दिया आदेश, 'SC के फैसलों के ध्यान में रखकर करें फैसला'

इंदौर। गरबों में रात12 बजे तक ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग की अनुमति को लेकर इंदौर हाई कोर्ट में दायर जनहित याचिका पर सुनवाई हुई. याचिका भाजपा नेता उमेश शर्मा द्वारा दायर की गई थी. शुक्रवार को हुई सुनवाई में याचिकाकर्ता के वकीलों के तर्क सुनने के बाद कोर्ट ने कहा आयोजक इस मामले में कलेक्टर को लिखित आवेदन करें.

वीडियो।


साथ ही ये हिदायत भी दी गई कि कलेक्टर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व में दिए गए आदेश के प्रकाश में आवेदनों का उसी दिन निराकरण भी करें. याचिकाकर्ता के अलावा इंटरविंनर के रूप में वरिष्ठ अधिवक्ता पीयूष माथुर ने तर्क रखा कि विशेष परिस्थितियों में कोलाहल अधिनियम की धारा 7 ई के तहत रात 12 बजे तक अनुमति को बढ़ाया जा सकता है. लेकिन अब कलेक्टर के निर्णय पर ही सब टिका हुआ है.
पढ़ेंः मतदाता सूची मामला: MP में कांग्रेस को 'सुप्रीम झटका', SC ने कमलनाथ की याचिका खारिज की
दरअसल, शहर में विभिन्न जगहों पर गरबे के आयोजन कर्ता इस बात पर अड़े हुए हैं कि रात दस बजे के बाद और दो घंटे के लिए डीजे बजाने और लाउड स्पीकर के इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाए. जबकि सुप्रीम कोर्ट की गाइड लाइन के मुताबिक केवल दस बजे तक ही ध्वनि विस्तारक यंत्र का इस्तेमाल किया जा सकता है.


वहीं आचार संहिता लगने के बाद प्रशासन सख्ती से इस नियम का सख्ती से पालन करवा रहा है. लेकिन अब हाई कोर्ट के आर्डर के बाद सीधे गेंद कलेक्टर के पाले में जा गिरी है. अब कलेक्टर का फैसला ही तय कर पाएगा की 12 बजे तक डीजे और लाउड स्पीकर बज पाएंगे या नहीं. हालांकि कलेक्टर ने अभी तक अपना तर्क मीडिया से साझा नहीं किया है.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES