• A
  • A
  • A
प्रकृती का अनूठा वरदान, कोई श्रोत नहीं, फिर भी यहां से बहता है पानी

प. चंपारण। धरती से आपरूपी कल-कल साफ पानी यहां से निकलता है। पानी इतना साफ है कि किसी भी प्यासे को यह पानी प्यास बुझा देता है। साथ ही यह पानी स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक माना जाता है।

पानी पीते लोग लोग एवं जानवर।


इस पानी को यहां के आस पास के गांव वाले भी पीने के लिए ले जाते हैं। गौनाहा प्रखण्ड के वाल्मिकीनगर व्याघ्र परीयोजना के मंगुराहा रेंज के परसौनी जंगल में आपरूपी पानी निकलते रहता है। जंगल के रास्ते गुजरने वाले मुसाफिर अपना प्यास बुझाते हैं। साथ ही उस जंगल में निवास करने वाले जंगली और पालतू जानवर भी अपना प्यास इसी पानी से बुझाते हैं।


इस संबंध में स्थानीय परसौनी गांव के ग्रामीण हरीन्द्र पटवारी ने बताया कि भटूजला, मुसहरी टोला, मुसलमानी टोला सहित आसपास के कई गांव के ग्रामीण इस पानी का सेवन करते हैं। यहां से सालों भर पानी निकलता है। हालांकि गर्मी के मौसम में मात्रा थोड़ी कम हो जाती है।

यहा सरकारी पहल की जरूरत है। सरकार यहां ध्यान दे-दे तो निश्चित ही यहां और आसपास जो पानी की किल्लत है वह समाप्त हो सकती है।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES