• A
  • A
  • A
बिहार से अपहरण कर छह बच्चों को हरियाणा में बेचा, पुलिस भी नहीं कर रही मदद

सुपौल: सदर थाना इलाके के बलवा पंचायत से गायब छह बच्चों को हरियाणा में बेचने का मामला सामने आया है. एक माह से अपने बच्चों को ढूंढ रहे परिवार वालों की व्यथा कोई सुनने वाला नहीं है. सदर थाना में आवेदन देने के बाद भी आज तक मामला दर्ज नहीं हुआ. वहीं, डीएम और एसपी को आवेदन देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

पुलिस और परिजनों का बयान।


बलवा गांव के सुनील कुमार (15), वकील कुमार (15), चंदन कुमार (14), संतोष कुमार (12), नीतीश कुमार (14) और दिनबंधु कुमार (15) पांच जुलाई को अचानक लापता हो गए. बताया जा रहा है कि उनके ही एक रिश्तेदार ने हरियाणा के एक प्लाई फैक्ट्री में ले जाकर बेच दिया.
ये भी पढे़ं:शराबबंदी के बावजूद मिल रही शराब कुछ तो गड़बड़ है- CM नीतीश
बच्चों के पिता ने सदर थाना में आवेदन भी दिया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. पीड़ित परिजनों का आरोप है कि बच्चों को मधुबनी जिले के अंधरामठ थाना इलाके के छिटही गांव के बलराम यादव और ब्रह्मदेव यादव ने हरियाणा में ले जाकर बेच दिया है. ये आरोपी उनके गांव आया करते थे.

परिजनों के मुताबिक, पांच जुलाई को बच्चे स्कूल की छात्रवृति का पैसा निकालने पीपराखुर्द गए थे. उसके बाद आज तक नहीं लौट सके. परिजनों का कहना है कि हरियाणा से एक दिन बच्चों का फोन आया था तो वो रो-रो कर बता रहे थे कि उन्हें इन लोगों ने यहां लाकर बेच दिया है.

ये भी पढे़ं:सरकारी योजनाओं में गड़बड़ी देखकर भड़के DM कहा- दोषियों को भेजेंगे जेल
बच्चों की हालत ऐसी है कि उन्हे खाने को कुछ भी नहीं दिया जा रहा है. मारपीट भी की जाती है. वहीं, पुलिस यह कह कर अपना पल्ला झाड़ रही है कि मामला हरियाणा में है तो प्राथमिकी भी वहीं दर्ज होगी.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES