• A
  • A
  • A
बड़ी खबर: कई घोटालों के बाद अब बिहार में आया 'FIR घोटाला'

बेगूसरायः बिहार में अक्सर वित्तीय घोटाले सामने आते हैं और उसपर पक्ष और विपक्ष के बीच घमासान देखने को मिलता है. लेकिन, बेगूसराय जिले में पुलिस डिपार्टमेंट में एफआईआर घोटाला प्रकाश में आया है जिससे पुलिस डिपार्टमेंट में हड़कंप मचा हुआ है.

कुंदन सिंह, डीएसपी हेडक्वार्टर, बेगूसराय


दरअसल, नगर थाना में पदस्थापित थानेदार हमेशा विवादों में रहे हैं. बढ़ते अपराध और नाकामियों को छुपाने के लिए थानेदार ने न सिर्फ आम लोगों की मजबूरियों का फायदा उठाया बल्कि वरीय अधिकारियों को भी गुमराह करने की हर संभव कोशिश की. नगर थाना पुलिस ने क्राइम का ग्राफ कम दिखाने के लिए बाइक चोरी की अलग-अलग तारीख पर हुई 19 वारदातों को छह प्राथमिकी दर्ज कर निपटा दिया गया.


ये भी पढ़ें : 'स्वार्थ पर टिका है महागठबंधन, किसी को 4 तो किसी को 8 सीटें चाहिए'

यानी कि चार पांच अलग-अलग स्थानों पर हुई बाइक चोरी को सिर्फ एक आवेदक के आवेदन पर एक एफआईआर दर्ज कर उसे छिपाने की कोशिश की गई. ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगर चोरी हुई बाइक से अपराधी किसी घटना को अंजाम देते हैं तो बाइक का मालिक फंस सकता है.


ये भी पढ़ें : '10 प्रतिशत आरक्षण नहीं बल्कि युवाओं को मोदी ने लॉलीपॉप थमा दिया है'

मामला संज्ञान में आने के बाद एसपी अवकाश कुमार ने नगर थाना की कुंडली खंगाली तो कई मामलों का खुलासा हुआ. इस बाबत हेडक्वॉर्टर डीएसपी कुंदन सिंह बताते हैं कि ये काफी गंभीर और अक्षम्य अपराध है. प्रारंभिक जांच में कई ऐसे मामले प्रकाश में आएं हैं, जिसमें थानेदार की भूमिका और मानसिकता संदिगध पाई गई है.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES