• A
  • A
  • A
सीलिंग विवाद: सदन और संसद के बाद अब सड़कों पर दौड़ेगा मुद्दा, निकलेगी 'कटोरा यात्रा'

नई दिल्ली। दिल्ली में लगातार चल रहे सीलिंग से तंग आकर अब दिल्ली के व्यापारियों ने अपने हाथ में कटोरा उठा लिया है। व्यापारियों के मुताबिक वो अब सीलिंग के विरोध में कटोरा आंदोलन चलाने जा रहे हैं। पढ़ें पूरी खबर...।

कटोरा पकड़े व्यापारी।


दिल्ली में चल रहे सीलिंग अभियान के खिलाफ चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंड्स्ट्री (CTI) ने अब नए तरह से विरोध जताने का फैसला लिया है। जिसके तहत सीटीआई से जुड़े तमाम ट्रेड एसोसिएशनों के व्यापारी राजधानी में 16 फरवरी से 25 फरवरी तक कटोरा यात्रा निकालेंगे। इस मार्च के तहत सभी व्यापारी दिल्ली के सातों सांसदों के घर भीख मांगने जाएंगे और फिर अंत में 25 फरवरी को प्रधानमंत्री के आवास पर कटोरा लेकर पहुंचेंगे।


CTI के कन्वीनर बृजेश गोयल और हेमन्त गुप्ता का कहना है कि व्यापारियों की सुनवाई कहीं नहीं हो रही है, अब तक 2000 से ज्यादा दुकानें, ऑफिस आदि सील किए जा चुके हैं, जब रोजगार ही नहीं रहेगा तो फिर गुजारा कैसे चलेगा। ऐसे में भीख मांगना ही विकल्प शेष रह जाएगा। इसी वजह से हमने कटोरा यात्रा निकालने का निर्णय लिया है।

ये भी पढ़ें - दिल्ली को दहलाने वाले 'दरिंदे' पर आरोप तय, जानें...कब होगा फैसला

सबसे लगाई गुहार
सीटीआई के महासचिव रमेश आहूजा और राकेश यादव ने बताया कि दिल्ली में पिछले डेढ़ महीने से सीलिंग चल रही है। व्यापारियों ने अपनी रोजी रोटी को बचाने के लिए एमसीडी, डीडीए से लेकर दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के सभी संबंधित मंत्रालयों से गुहार लगाई है। लेकिन सीलिंग से राहत नहीं मिली है। मामला सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश पर गठित मॉनिटरिंग कमिटी की देखरेख में है।

किसी का दिल नहीं पिघला
सीटीआई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रदीप गुप्ता का कहना है कि व्यापारियों ने दिल्ली बंद करके देख ली, भूख हड़ताल भी कर ली लेकिन किसी का दिल नहीं पिघला। सरकार को समझना चाहिए की सीलिंग से रोजगार बंद होंगे तो सिर्फ व्यापारी और उसका परिवार ही नहीं बल्कि व्यापारियों के यहां काम करने वाले तमाम कर्मचारियों के परिवार की रोजी रोटी पर फर्क पड़ेगा। बजाए रास्ता निकालने के अभी भी सीलिंग अभियान जारी है। सरकार के इस रवैये को देखते हुए सीटीआई ने दिल्ली भर में कटोरा यात्रा निकालने की योजना तैयार की है।

केवल उनसे भीख मांगेंगे बल्कि ज्ञापन भी सौंपेंगे
इस यात्रा की शुरुआत 16 फरवरी से शुरू होगी। यात्रा में व्यापारी और उनके कर्मचारी हाथ में कटोरा लेकर सड़कों पर भीख मांगते हुए निकलेंगे। कटोरा यात्रा के पहले दिन 16 फरवरी को व्यापारी चांदनी चौक से सांसद व केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन के घर जाएंगे,17 फरवरी को मीनाक्षी लेखी, 18 फरवरी को उदित राज, 19 फरवरी को महेश गिरी, 20 फरवरी को प्रवेश वर्मा, 21 फरवरी को रमेश बिधूड़ी और 22 फरवरी को मनोज तिवारी के आवास पर जायेंगे। न केवल उनसे भीख मांगेंगे बल्कि उन्हें ज्ञापन भी सौंपेंगे।

ये भी पढ़ें - AAP के 20 विधायकों पर फंसा पेंच! राष्ट्रपति के फैसले के बाद भी कोर्ट करेगी सुनवाई

बृजेश गोयल ने कहा कि अगर 24 फरवरी तक केन्द्र सरकार कोई अध्यादेश या बिल लाकर सीलिंग से राहत नहीं देती है तो 25 फरवरी को सभी व्यापारी हाथों में कटोरा लेकर अपनी दुकानों को बचाने की भीख मांगने के लिए प्रधानमंत्री आवास पहुंचेगे और प्रधानमंत्री को सीलिंग की इस समस्या के संबंध में एक ज्ञापन सौंपेंगे।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  اردو خبریں

  ଓଡିଆ ନ୍ୟୁଜ

  ગુજરાતી ન્યૂઝ

  MAJOR CITIES